लंगेहड़ गांव में शराब के ठेके का विरोध

धर्मपुर—उपमंडल धर्मपुर की लंगेहड़ पंचायत के लंगेहड़ गांव में शराब का ठेका खोलने का महिला मंडलों ने विरोध करते हुए ठेके के बाहर गुरुवार को धरना दिया। गौरतलब है कि वर्ष 2017 में भी इस जगह के करीब ही ठेका खोला गया था, महिला मंडलों ने उस समय विरोध किया था और विभाग ने वहां से ठेके को अन्य जगह पर शिफ्ट करवा दिया था। बुधवार रात को एक बार फिर से यहां पर ठेका खोला गया, जिसका विरोध महिला मंडल लंगेहड़, महिला मंडल ठाणा व महिला मंडल वारल की महिलाओं ने ठेके के बाहर धरना देकर विरोध जताया। लंगेहड़ पंचायत के उपप्रधान संजय कुमार ने भी महिलाओं के विरोध को उचित बताते हुए उनके साथ धरने में भाग लिया। महिला मंडल की सदस्यों का आरोप है कि जिस जगह पर यह ठेका खोला गया,  वहां आसपास सरकारी विभागों के कार्यालय हैं व यहां से रास्ता भी गुजरता है, जिसमें महिलाओं और स्कूल के बच्चों का आना-जाना लगा रहता है। इसलिए महिला मंडल इस ठेके का विरोध कर रहे हैं। पूर्व में जब यहां पर ठेका खोला गया था तब महिला मंडलों के विरोध के कारण उसे बदलने के बाद विभाग व प्रशासन ने इस वर्ष फिर से इस जगह पर ठेका खोलने का फैसला क्यों लिया यह सोचने वाली बात है। महिला मंडलों को इस जगह पर ठेका खुलने की भनक कुछ दिन पूर्व लग गई थी, इसलिए 15 मई को एसडीएम धर्मपुर को ज्ञापन देकर ठेका इस जगह पर न खोलने की मांग भी उन्होंने की थी। गुरुवार को ठेके के बाहर धरने में  कौशल्या देवी प्रधान महिला मंडल ठाणा, व्यास देवी प्रधान महिला मंडल लंगेहड द्वितीय, दमोदरी देवी, बबीता, संतोष, सुषमा, मीना, कांति, बिमला, रोशनी, रूमा, रीता, विजय, राजो, रूमा, फुलमु, बबली, बिमला, कल्पना आदि शामिल रहीं। लंगेहड़ पंचायत के उपप्रधान संजय कुमार ने भी यहां पर ठेका खोलने का विरोध करते हुए कहा कि ग्रामसभा ने प्रस्ताव पारित करके पंचायत में ठेका खुलने का पहले ही विरोध किया है। महिला मंडल की सदस्यों ने एसडीएम धर्मपुर व आबकारी एवं कराधान विभाग के अधिकारीयों को ज्ञापन भेजकर ठेके को बंद करने की मांग की है अन्यथा इसके विरोध में हर रोज धरना देने की चेतावनी दी है। इस बारे में ईटीओ सरकाघाट रमेश चौहान ने कहा कि यह सब बैंड ठेका सरकार की अनुमति मिलने से नियमानुसार खोला गया है।

You might also like