लॉ-नर्सिंग में बुलंदियों को छू रहा हिमकैप्स संस्थान

बढेड़ा में कालेज में छात्रों को दी जा रही हर फेसिलिटी, शिक्षा पर सीएम जयराम ठाकुर व सहकारिता मंत्री राजीव सहजल भी खुश

ऊना -विश्व में सहकारिता के क्षेत्र में पहला हिमकैप्स संस्थान बढेड़ा वकीलों व नर्सों की नर्सरी बनकर उभरा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व सहकारिता मंत्री राजीव सहजल ने भी संस्थान में दी जा रही गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व सुविधाओं को सरानीय करार दिया है। विश्व में सहकारिता के जन्मदाता मियां हीरां सिंह की यादों को हमेशा जीवंत रखने के लिए सहकारिता के क्षेत्र में बढेड़ा में पहला लॉ एवं नर्सिंग संस्थान खोला गया। संस्थान में देश के कौने-कौने से छात्र-छात्राएं वकील व नर्सिंग का कोर्स करने के लिए आ रहे हैं और डिग्रियां प्राप्त करके सरकारी व गैर सरकारी क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। संस्थान को शुरुआती चरण में चलाने के लिए हिमकैप्स इंस्टीच्यूट ऑफ प्रोफेशनल एजुकेशनल सोसायटी बढेड़ा तहसील हरोली जिला ऊना हिमाचल प्रदेश राज्य स्तरीय दि हिमाचल प्रदेश को-ऑपरेटिव एडवांसमेंट ऑफ प्रोफेशनल एजुकेशन सोसायटी का गठन दो अप्रैल 2002 को किया गया था। इसके अंतर्गत सहकारिता क्षेत्र में विश्व के पहले सहकारिता एजुकेशन संस्थान मिलने का सौभागय हरोली क्षेत्र को प्राप्त हुआ। विश्व में सहकारिता के जन्मदाता के क्षेत्र में प्रदेश की 92 को-आपरेटिव सोसायटियों ने अपना अमूल्य योगदान देकर संस्थान को विद्यार्थियों के लिए शुरू किया है। इसमें हिमकैप्स स्कूल ऑफ लॉ में बीएएलएलबी, ऑनर्स हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से मान्य प्राप्त है। अभी तक आठ बैच पास आउट हो चुके है। इसमें कालेज की छात्रा सरितापाल ने बीए एलएलबी ऑनर्स हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में बैच 2011-16 में गोल्ड मेडल प्राप्त कर संस्थान का नाम रोशन किया है। वहीं, बैच में 2013-16 में एलएलबी मिस पूजा देवी ने विश्वविद्यालय में गोल्ड मेडल प्राप्त किया। संस्थान में मौजूदा समय में हिमकैप्स कालेज ऑफ लॉ की कुल 140 सीटें हैं। इनमें एलएलबी तीन वर्षीय कोर्स की 60, जबकि बीए एलएलबी की 80 सीटें स्वीकृत हैं। हिमकैप्स कालेज ऑफ नर्सिंग की कुल 100 सीटें हैं। इनमें जीएनएम में 40 और बीएससी नर्सिंग के लिए 60 सीटें स्वीकृत हैं। संस्थान में नर्सिंग का कोर्स करने वाली छात्राओं को प्रैक्टिल के लिए टीएमसी, आरएच ऊना, सिविल अस्पताल हरोली व मेंटल अस्पताल अमृतसर में प्रशिक्षण के लिए भेजा जाता है। संस्थान में एलएलबी की डिग्री प्राप्त कर चुके अंकुश शर्मा एसडीएम के पद पर सेवाएं दे रहे हैं। जबकि अनिल मनकोटिया तहसीलदार हैं और बलबीर सिंह स्वास्थ्य विभाग में उच्च पद पर सेवारत है। वहीं, पीएनबी बैंक से सेवानिवृत्त पीसी रियाल भी इस संस्थान में लॉ की पढ़ाई कर रहे हैं। अधिक जानकारी के लिए युवा 98179-38904 पर संपर्क कर सकते हैं। वहीं, चेयरमैन हिमकैप्स संस्थान, बढेड़ा देशराज राणा ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व सहकारिता मंत्री राजीव सहजल के विशेष प्रयासों से हिमकैप्स संस्थान विकास के पथ पर अग्रसर है। संस्थान में छात्रों के लिए शिक्षा का बेहतर वातावरण दिया जा रहा है। शैक्षणिक सत्र 2019-20 के लिए एलएलबी, बीए एलएलबी, जीएनएम व बीएससी नर्सिंग की कक्षाओं के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

 संस्थान नई ऊंचाइयों को छू रहा है

संस्थान में लॉ कालेज की प्रधानाचार्या डा. भावना शर्मा व नर्सिंग की प्रधानाचार्या डा. वरिंद्र कौर के मार्गदर्शन में संस्थान नई ऊंचाइयों को छू रहा है। हिमकैप्स संस्थान मंे कुल स्टाफ 58 सदस्यों की कड़ी मेहनत के बदौलत संस्थान शिखर की ऊंचाइयों को छू रहा है।

पढ़ाई के लिए अच्छा वातावरण दिया जा रहा है

हिमकैप्स को-आपरेटिव एजुकेशन संस्थान बढेडा में छात्रों को प्रोफेशनल एजुकेशन दी जा रही है। छात्रों को पढाई के लिए अच्छा वातावरण दिया जा रहा है। खेल के मैदान सहित प्रदेश व अन्य राज्यों के लड़के-लड़कियों के लिए होस्टल की सुविधा भी दी गई है। उन्होंने बताया कि शैक्षणिक सत्र 2014-15 के लिए बीएएलएलबी व एलएलबी के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

संस्थान की विशेषताएं

  1. हिमकैप्स कालेज में वातानुकूल वातावरण
  2. उच्च शिक्षित स्टाफ, यूजीसी की योगयतानुसार
  3. ऑडिटॉरियम, लैब सुविधा, मूट कोर्ट, लाइब्रेरी
  4. खेल का मैदान, लड़के-लड़कियों के लिए होस्टल सुविधा उपलब्ध
  5. ट्रांसपोर्ट सुविधा
  6. पीने के लिए आरओ प्योरिफाई पानी
  7. मॉडर्न क्लासरूम
  8. कैंपस सीसीटीवी कैमरों से लेस
  9. सोलर पावर प्लांट

 

 

You might also like