लोकतंत्र की ताकत

– जोगिंद्र ठाकुर, भल्यानी, कुल्लू

लोकसभा चुनाव 2019 के परिणामों ने लोकतंत्र में जनता की ताकत को दिखाया है। अब समय बदल गया है। तुष्टिकरण, जातिवाद और दुष्प्रचार की राजनीति करने वाले नेता व उनके दलों को जनता ने सबक सिखाया है। जनाधार खिसकता देख अपना अस्तित्व बचाने के लिए गठबंधन, वोटिंग मशीनों को निशाना बनाकर देश में भ्रम की स्थिति बनाने के प्रयास हुए। संवैधानिक संस्थाओं को चुनौती देकर तहस-नहस करने की भी कोशिशें की गईं। जनता ने इन सब कुप्रयासों पर अपने मत से करारी चोट की है। यही तो लोकतंत्र की ताकत है। बढ़ते मतदान प्रतिशत ने  भारत की जीत सुनिश्चित की है। भारत को एक स्थिर और बहुमत की सरकार बनाने का रास्ता प्रशस्त हुआ है। अब उम्मीद की जानी चाहिए कि नई सरकार और अधिक जवाबदेही के साथ जनाकांक्षाओं को पूरा करने में सफल होगी।

You might also like