लोकतंत्र बचाने के लिए गोली चलाने को भी तैयार

पटना – आरएलएसपी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा द्वारा नतीजों में गड़बड़ी का हवाला देकर खून बहाने की बात कहने के बाद अब बिहार के छुटभैये नेता भी ऐसे बयान देने लगे हैं। बिहार के बक्सर से निर्दलीय प्रत्याशी रामचंद्र यादव ने कहा कि वह लोकतंत्र की रक्षा के लिए हथियार उठाने को तैयार हैं। प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान रामचंद्र यादव ने हाथ में बंदूक लेकर कहा कि भीम राव अंबेडकर के संविधान की रक्षा के लिए रामचंद्र यादव जैसे करोड़ों नौजवान अपनी आहुति देने के लिए तैयार हैं, हम लोग हथियार उठाने के लिए तैयार हैं, लोकतंत्र की रक्षा के लिए।  इससे पहले रामचंद्र यादव ने कहा कि आखिर ट्रक भरकर ये ईवीएम कहां ले जाए जा रहे हैं। ईवीएम से चुनाव कराने का मतलब क्या है, जबकि दुनिया के विकसित देश बैलेट पेपर से चुनाव करवा रहे हैं। उनके इस बयान के बाद बिहार पुलिस तुरंत हरकत में आई और रामचंद्र यादव के घर में छापामारी की, लेकिन तब तक वह फरार हो चुके थे। इससे पहले मंगलवार को उपेंद्र कुशवाहा ने नतीजों में गड़बड़ी पर खून बहाने की धमकी दी थी. उन्होंने कहा था कि अगर नतीजों को इधर-उधर करने की कोशिश की गई तो सड़कों पर खून बहेगा.  कुशवाहा के %खूनी धमकी% और रामचंद्र यादव के बयान के बाद बिहार पुलिस ने अलर्ट जारी कर दिया है. पुलिस मुख्यालय ने पटना समेत बिहार के सभी जिलों को हर हाल में कानून-व्यवस्था बनाए रखने को कहा है. निर्देश में कहा गया कि इसके लिए जो भी कड़े कदम उठाए जा सकते हैं, वे उठाए जाएं।

You might also like