वर्षा एवं पत्थर गिरने के बावजूद राजमार्ग पर वाहनों का परिचालन जारी

श्रीनगर – बारिश होने तथा लगातार पत्थरों के गिरने के बावजूद श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक ओर से वाहनों का परिचालन शुरू हो गया है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि रामवन क्षेत्र में पिछले दो दिनों से फंसे कश्मीर के वाहनों के परिचालन की अनुमति दे दी गयी है। यातायात जारी रखने के लिए राजमार्ग पर लगातार गिर रहे पत्थरों को तत्काल हटाया जा रहा है। इस क्षेत्र में बारिश हुई है, जिसके कारण भूस्खलन तथा पत्थरों के गिरने के आसार हैं। सूत्रों ने कहा, “हमने रामवन क्षेत्र में फंसे हुए वाहनों को चलाने की अनुमति दे दी है। दूसरी ओर से वाहनों के परिचालन की अनुमति नहीं होगी। अभी भी राजमार्ग की स्थिति अस्थिर है, कोई नहीं जानता कि भूस्खलन के कारण यह कब बंद हो जाएगा। पत्थर गिरने वाले तथा भूस्खलन की आशंका वाले क्षेत्रों में यातायात नियंत्रित करने के लिए यातायात पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है।” कश्मीर घाटी को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाला श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग डिगडोल तथा रामवन के अन्य क्षेत्र में भूस्खलन के कारण बुधवार शाम बंद कर दिया गया है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) और राजमार्ग की मरम्मत की जिम्मेदारी संभालने वाला सीमा सड़क संगठन ने अत्याधुनिक मशीनों तथा श्रमिकों की सहायता से राजमार्ग पर पड़े भूस्खलन के मलबे को हटाया और राजमार्ग पर फंसे हुए वाहनों को कश्मीर घाटी की ओर जाने की अनुमति दे दी गयी है। 

You might also like