वाह ! यहां लड़कियां भी कर रही सेना में जाने की तैयारी

पांवटा साहिब—कहते हैं कि समय के साथ-साथ इनसान के रहन-सहन, खान-पान और वेशभूषा में भी बदलाव आता है और यह समय का ही बदलाव है कि जिस गिरिपार क्षेत्र में लड़कियां कभी स्कूल का मुंह भी कम ही देख पाती थीं वहां की युवतियां आज हर क्षेत्र में अपना व अपने मां-बाप का नाम रोशन कर रही हैं। खेलकूद और शिक्षा के अतिरिक्त अब क्षेत्र की युवतियां भारतीय सेना में जाने की चाहवान भी बन गई हैं। गिरिपार क्षेत्र में यह अनोखा नजारा शिल्ला पंचायत में देखने को मिल रहा है, जहां आजकल युवाओं के साथ-साथ युवतियां भी सेना में जाने के लिए खूब पसीना बहा रही हैं। जानकारी के मुताबिक सिरमौर जिला के गिरिपार क्षेत्र के शिल्ला गांव की डेढ़ दर्जन के करीब युवतियां सेना में भर्ती होने की तैयारियां कर रही हैं। इन लड़कियों के प्रयास का जज्बा क्षेत्र के लोगों में चर्चा और युवा वर्ग के लिए प्रेरणा का विषय बना हुआ है। आजकल शिल्ला गांव की 15 लड़कियां और 20 लड़के रोजाना पांच से छह घंटे का प्रशिक्षण ले रहे हैं और इन्हंे यह प्रशिक्षण पूर्व सैनिक कर्म सिंह दे रहे हैं। कर्म सिंह पंजाब रेजिमेंट से एसीपी हवलदार पद से रिटायर्ड हुए हैं। पूर्व सैनिक कर्म सिंह इन्हें न सिर्फ सेना मंे भर्ती होने की तैयारी करवा रहे हैं, बल्कि सेना की ट्रेनिंग के पैटर्न का भी प्रशिक्षण दे रहे हैं। सुबह पांच से सात बजे तक ये युवतियां भी लड़कों के साथ एनएच किनारे दौड़ लगाकर सभी एक्सरसाइज कर खूब पसीना बहाती देखी जा सकती हैं जो क्षेत्र के अन्य गांव के लिए भी एक प्रेरणा बनकर सामने आई हैं। प्रशिक्षण ले रही युवतियां रितिक, नेहा, शिवानी, तन्वी, तनु, शालिनी, अलिशा आदि ने बताया कि पहली बार भारतीय सेना में युवतियों के लिए जीडी की भर्ती करवाई जा रही है जो खुशी की बात है। आज लड़कियां हर क्षेत्र मंे देश का नाम रोशन कर रही हैं। इसलिए उनकी भी सोच है कि वे भी सेना में जाकर लड़कों की तरह देश की सेवा करें।

You might also like