विश्व पटल पर उभरेगा बिजली महादेव

कुल्लूवासियों की बढ़ी पर्यटन को लेकर प्रधानमंत्री से आस 

कुल्लू —बिजली महादेव का हमेशा ही अपने ऊपर आशीर्वाद मामने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद जिला कुल्लू की जनता खासतौर पर पर्यटन से जुड़े लोगों की आस अब बंध चुकी है। अब हर एक व्यक्ति बिजली महादेव को विश्व पटल पर पर्यटन के क्षेत्र में उभरता हुआ धार्मिक स्थल देखना चाहता है। बीते गुरुवार को भारी मतों से जीत हासिल करने वाली भाजपा के सता में आने के बाद से लोगों की भी जिला कुल्लू में विकासत्माक कायांर्े को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। यहां की जनता को पूरी उम्मीद है कि प्रधानमंत्री ने अपने हिमाचल दौरे के दौरान और कुल्लू व मंडी में बिजली महादेव को याद करते हुए वहां पर बिताए हर लम्हों को याद किया। वहीं, मुख्यमंत्री जब दिल्ली प्रधानमंत्री से मिलने पहुंचे तो प्रधानमंत्री ने बिजली महादेव के लिए बनने वाले रोपवे से लेकर किस तरह से आगे काम शुरू हुआ इसकी पूरी जानकारी ली थी। लेकिन अभी तक बिजली महादेव को बनने वाले रोपवे को लेकर स्थिति साफ नहीं है। हालांकि कई बार मंत्री व उपायुक्त रोपवे बनाने वाली कंपनी के साथ बैठक कर चुके है। रोपवे बनाए जाने को लेकर बीच में कुछ स्थानीय लोगों ने इससे जिस जगह से पहले लगाया जा रहा था। उस जगह से न लगाकर पैछा गांव से रोपवे लगाने की बात भी रखी। वहीं, बिजली महादेव कमेटी ने भी रोपवे को बिजली महादेव मंदिर परिसर से दूर लगाने की बात कही। ऐसे में 26 मई को एक बार फिर बिजली महादेव को बनने वाले रोपवे को लेकर यहां बैठक अधिकारियों की होने वाली है। जिसमें फैंसला लिया जाएगा कि आखिर रोपवे कहां से तैयार होगा और कितने समय में तैयार होगा।  बता दें कि रोहतांग टनल पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की देन है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सत्ता संभालने के बाद हमेशा बिजली महादेव को विश्वभर में धार्मिक स्थलों में एक बनाने की बात कही है।

You might also like