वीरभद्र बताएं, आपकी पार्टी को क्या पुकारूं

पालमपुर – सांसद शांता कुमार वीरभद्र सिंह से बड़ी नम्रता से पूछा है कि आपकी पार्टी को किस नाम से पुकारूं। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी से वीरभद्र सिंह छह बार मुख्यमंत्री रहे और उसी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू मंच पर एक-दूसरे के विरूद्ध सब कुछ कहते हों। जिस पार्टी के दिग्गज नेता वीरभद्र सिंह कहते हों कि सुखराम से उनकी कोई दुश्मनी नहीं, परंतु वह आया राम, गया राम के खिलाफ  हैं, जिस पार्टी के नेता शिमला के कांग्रेस उम्मीदवार धनीराम शांडिल को पुराना पापी कहते हों, उस पार्टी को कोई भी समझदार व्यक्ति पार्टी तो कह नहीं सकता। फिर भी मेरे जो शब्द उन्हें अच्छे नहीं लगे हैं, तो मैं उनको वापस लेता हूं। शांता ने कहा कि वीरभद्र सिंह ने कांग्रेस पार्टी को सर्कस कहने के लिए मुझ से गिला किया है और इसे बुरा माना है। यदि इस शब्द से उनको दुख पहुंचा हो तो मैं यह शब्द वापस लेता हूं और उसके लिए खेद प्रकट करता हूं।

You might also like