शर्त के फेर में उलझी नर्स भर्ती

रोजगार कार्यालय में नाम दर्ज होने का नया नियम बना दिक्कत

शिमला – प्रदेश में नर्सेज की भर्ती के लिए लगी नई शर्त ने उन्हें झटका दे दिया है। बताया जा रहा है कि उसे ही बैचवाइज नर्सेज की भर्ती के लिए आवेदन में योग्य माना जाएगा, जिसका नाम इंप्लाइमेंट एक्सचेंज में दर्ज होगा। अब प्रदेश में कई ऐसी नर्सें हैं, जिनका नाम रोजगार कार्लयों में दर्ज ही नहीं है। वहीं, नर्सेज का मानना है कि चुनाव के इस माहौल में रोजगा़र कार्यालयों में नाम दर्ज करवाने में लंबा समय लग रहा है। लिहाजा चुनाव आयोग की स्वीकृति के बाद प्रदेश में स्टाफ नर्सेज की भर्ती प्रकिया को मंजूरी तो मिली है, लेकिन अब भर्ती के लिए सभी नर्सेज को आवदेन करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।  समस्या तो यह है कि स्टाफ नर्सेज की बैच के आधार पर भर्ती के लिए 15 मई को आवेदन का अंतिम दिन था। वहीं उनका कहना है कि संबंधित रोजगार कार्यालयों से रोजगार के अब काफी कम अवसर मिल रहे हैं। ऊपर से यह शर्त लगा दी गई है, जिससे आवेदन करने में अड़चनें आ गई हैं। हालांकि अभी बैचवाइज भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन किए जा रहे हैं, लेकिन संभावना जताई जा रही है कि हजारों नर्सेज आवेदन करने से चूक गई हैं।

264 पदों पर होनी हैं भर्ती

सामान्य वर्ग की 111 पद, एससी की 49, एसटी की 10, ओबीसी की 42 सीटें, सामान्य आईआरडीपी के  26 पद, एससी आईआरडीपी के नौ, एसटी आरईआरडीपी के तीन, ओबीसी आईआरडीपी के आठ, जनरल डब्लूएफएफ के तीन, एससी डब्लूएफएफ के दो और ओबीसी डब्लूएफएफ के एक पद पर बैचवाइज आधार पर कुल 264 पदों पर नर्सेज की भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

You might also like