शहर में हाउस टैक्स बढ़ाने का फैसला न बदला तो आंदोलन

चंबा—हयूमन राइटस प्रोटेक्शन काउंसिल संबंधित इंटक के राज्य महासचिव नरेश राणा ने नगर परिषद के गृहकर में प्रस्तावित बढ़ोतरी की कवायद की कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहा कि नगर परिषद ने हाल ही में आउटसोर्स कंपनी के माध्यम से शहर में गृहकर तय करने के लिए सर्वे करवाया है। इस सर्वे के मुताबिक आगामी दिनों में नगर परिषद गृहकर में पांच से आठ सौ फीसदी बढ़ोतरी करने जा रही है। उन्होंने कहा कि अगर नगर परिषद ने इस फैसले को सिरे चढ़ाया तो काउंसिल जनहित के मुददे को लेकर एक बडा आंदोलन खड़ा करेगी। साथ ही न्याय पाने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाने से भी पीछे नहीं हटेगी। नरेश राणा ने साथ ही कहा है कि एक ओर जिला प्रशासन ऐतिहासिक चौगान को संवारने के लिए सालाना लाखों रुपए खर्च कर रहा है। मगर पिछले एक सप्ताह के दौरान चौगान को राजनीतिक पार्टी को रैली आयोजन के लिए देने से इसकी हालत काफी बिगड़ गई है। ऐसे में लोग सवाल उठा रहे हैं कि आखिरकार प्रशासन की चौगान को सजाने संवारने की कवायद का क्या फायदा। नरेश राणा ने मेडिकल कालेज में स्त्री रोग विशेषज्ञ के छुट्टी पर जाने से गर्भवती महिलाओं को पेश आ रही मुश्किलों का मुददा भी उठाया है। नरेश राणा ने मेडिकल कालेज के चिकित्सा अधीक्षक से अनुरोध किया है कि दो- दो महिला विशेषज्ञ होने के बाद भी केस टांडा रैफर किए जा रहे हैं, जिससे तीमारदारों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने चिकित्सा अधीक्षक से इस व्यवस्था में सुधार कर लोगों को राहत प्रदान करने को कहा है।

You might also like