शिकारी देवी-कमरूनाग में रौनकें

प्रचंड गर्मी से राहत पाने को सैलानियों ने किया प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों का रुख, सुंदर वादियों का उठा रहे लुत्फ

गोहर –11 हजार फुट की ऊंचाई वाले सुप्रसिद्ध धार्मिक एवं पर्यटक स्थल माता शिकारी तथा नौ हजार फुट ऊंचाई वाले क्षेत्र श्रीदेव कमरूनाग में प्रतिदिन सैकड़ों लोगों के आने-जाने का तांता लग रहा है। सप्ताह भर से चल रही गर्मी के चलते अब मैदानी क्षेत्रों का पारा लगातार चढ़ रहा है। प्रचंड गरमी से राहत पाने के लिए सैलानियों व वीआईपीज ने अब ऐसे ऊंचाई वाले क्षेत्रों की ओर रुख करना आरंभ कर दिया है। आजकल प्रातः होते ही गोहर व चैलचौक से होते हुए दर्जनों वाहन इन धार्मिक स्थलों की ओर रवाना हो जाते हैं। दिन भर देवदार, रई, कायल, तोष, के घने जंगलों व विभिन्न जड़ी-बूटियों से सुगंधित धरती का दिन भर लुत्फ उठाकर शाम ढलते ही निकटतम विश्राम गृहों या फिर अपने घरों की ओर लौट जाते हैं। प्राप्त समाचार के अनुसार दो-तीन दिनों में इस क्षेत्र में आम लोगों सहित प्रदेश के आला अफसरों की आमद अधिक रही है। इस हफ्ते राज्य मंत्रिमंडल के कुछ सदस्यों व अन्य वीआईपीज का भी इन धार्मिक स्थलों में आना प्रस्तावित बताया जा रहा है। इसके अतिरिक्त प्रतिदिन छोटे वाहनों के माध्यम से सैकड़ों लोग माता शिकारी, भूलाह व श्रीदेव कमरूनाग के दर्शन करने यहां पहंुच रहे हंै। जंजैहली के सेवानिवृत्त खंड प्राथमिक शिक्षा अधिकारी कांशी राम शर्मा, खेम सिंह, नारद ठाकुर सहित कई लोगों का कहना है कि इस क्षेत्र में प्रतिदिन सैकड़ों लोग यहां पहुंचते हैं। उन्होंने खेद व्यक्त करते हुए कहा कि कुछ युवा वर्ग की टोलियां यहां विभिन्न  नशे करके इन धार्मिक स्थलों की सुंदरता व आस्था पर ग्रहण लगा रहे हैं। क्षेत्र की जनता ने स्थानीय प्रशासन से मांग की है कि माता शिकारी व देव श्री कमरूनाग मंदिर परिसर में पुलिस दल तैनात किए जाए।

15-16 को सरनाहूली मेला

15 व 16 जून को दो दिवसीय कमरूनाग सरानाहूली मेले के दौरान रास्ते में दानियों द्वारा जगह-जगह लंगर की व्यवस्था की जाएगी। बिलासपुर सहित प्रदेश के पड़ोसी राज्यों के कई दानी अभसी से ही इस स्थान का दौरा करके प्रतावित लंगर स्थल का चयन कर चुके हैं। सनद रहे इस सरानाहूली मेले के दौरान हर वर्ष प्रदेश सहित पड़ोसी राज्यों के कई लोग यंहा लंगर की व्यवस्था करते रहे है। जो मेले की ओर आने-जाने वाले हर श्रद्धालु को भोजन परोसकर उन्हें खिलाते हैं।

 

You might also like