शिक्षा विभाग ने दो दिन में मांगी रिपोर्ट

नशे के खिलाफ मुहिम कितनी सफल हुई, बताएं स्कूल

शमला – प्रदेश के लगभग 15 हजार सरकारी स्कूलों में नशे की रोकथाम को लेकर चलाया गया अभियान कितना सफल हुआ है, इस बारे में शिक्षा विभाग ने स्कूलों से दो दिन में रिपोर्ट तलब की है। इस दौरान स्कूल प्रबंधन को यह बताना होगा, कि छात्रों को नशे से दूर रखने के लिए जो कार्य किए गए, वह  कितने सफल हुए हैं। बता दें कि इस दौरान स्कूल प्रबंधन को आईडेंटिटीफाई हुए नशेड़ी छात्रों की रिपोर्ट भी भेजनी होगी। दरअसल इससे पहले भी शिक्षा विभाग ने इस बाबत स्कूलों से रिपोर्ट मांगी थी। हैरत है कि इस मामले को लेकर कोई भी स्कूल गंभीर नहीं है। यही वजह है कि अभी तक  किसी भी जिला से नशे को लेकर मांगी गई रिपोर्ट नहीं आ पाई है। बता दें कि इन दिनों नशे का खात्मा स्कूली छात्रों से ही शुरू हो रहा है। शिक्षा विभाग के अनुसार कई स्कूलों में छात्र न केवल बीड़ी सिगरेट जैसे नशीले पदार्थो का सेवन करते हैं, बल्कि वह ड्रग जैसी नशीलें चीजों को भी भारी मात्रा में इस्तेमाल कर रहे है। यही वजह है कि स्कूलों मे नशे क ी रोकथाम के लिए क्या-क्या कदम उठाए हैं, इसक ी रिपोर्ट शिक्षा विभाग ने स्कूलों से तलब की है।  विभाग ने दो दिन में ये रिपोर्ट ई-मेल या फैक्स के माध्यम से निदेशालय को भेजने को कहा है, ताकि ये रिपोर्ट समय पर सरकार को भेजी जा सकें। इस दौरान स्कूलों को नशे के खिलाफ छेड़े गए अभियान व इससे क्या परिणाम सामने आए हैं, इसकी जानकारी भी देने को कहा है। उच्च शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक की ओर से स्कू लों को ये निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही विभाग ने स्कूलों में बनी एंटी विजिलेंस कमेटी ने कितनी बैठकें की है, इसका ब्यौरा भी स्कूलों से मांगा है।

You might also like