शिमला में ऐतिहासिक होटल ग्रैंड में आग, एक हिस्सा राख

पांच घंटे बाद काबू में आई आग, 20 लाख का नुकसान

 शिमला -केंद्र सरकार के हैरिटेज दि ग्रैंड होटल में अचानक लगी आग से उसका एक हिस्सा जल कर राख हो गया। ग्रैंड होटल की ऐतिहासिक इमारत में रविवार रात 12 बज कर 45 मिनट पर आग लगी। भीषण आग से इमारत का एक हिस्सा पूरी तरह जलकर राख हो गया। यह होटल केंद्र सरकार का अतिथि गृह भी है और यह भवन ऐतिहासिक धरोहर है, जिससे ब्रिटिश काल का इतिहास भी जुड़ा है। जानकारी के मुताबिक रात पौने एक बजे पुलिस की पैट्रोलिंग टीम मौके पर पहुंची। तब तक आग काफी फैल चुकी थी, जिसके कुछ देर बाद फायर ब्रिगेड की टीम भी मौके पर पहुंची और करीब पांच घंटे से अधिक की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। इस अग्निकांड में 20 लाख की संपत्ति राख होने का आकलन किया गया है। हालांकि दमकल विभाग के कर्मचारियों की मुस्तैदी से करोड़ों की संपत्ति को पूरी तरह राख होने से बचा लिया गया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक आग लगने की सूचना मिलने ही डीसी शिमला राजेश्वर गोयल अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और त्वरित कार्रवाई के लिए मुस्तैद रहे। वहीं दूसरी तरफ शिमला पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस भी आग लगने की सूचना मिलने ही कारणों का पता लगाने में जुट गई है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक होटल का जो हिस्सा जला है, वह वीआईपी ब्लॉक है। आग लगने की सूचना जैसे ही मिली तो मॉलरोड, छोटा शिमला और बालूगंज फायर स्टेशनों से दमकल कर्मी घटनास्थल की ओर रवाना हो गए, लेकिन पानी की कमी के चलते उन्हें आग बुझाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। आग की लपटें शहर के कई हिस्सों से दिखाई दे रही थीं। यह होटल स्कैंडल प्वाइंट से थोड़ी दूरी पर कालीबाड़ी मंदिर से सटा है।

सीपीडब्ल्यूडी ने बिठाई जांच

धरोहर भवन ग्रैंड होटल में रविवार रात आग लगने के कारणों की जांच करने के लिए केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने जांच समिति गठित की है। यह समिति शीघ्र ही विभागीय उच्च अधिकारियों व जिला प्रशासन को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। यह जानकारी उपायुक्त शिमला राजेश्वर गोयल ने दी।

You might also like