शिमला में मणिशंकर रिटर्न्स

प्रधानमंत्री को नीच कहने के बयान पर सफाई देने से इनकार

शिमला –पीएम नरेंद्र मोदी को एक बार फिर ‘नीच किस्म का आदमी’ बताने वाले अपने लेख पर कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने सफाई देने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा इस बारे में कांग्रेस ने बयान जारी कर दिया है। शिमला में मीडिया के सवालों पर भड़कते हुए अय्यर ने कहा कि मैं इतना बड़ा उल्लू नहीं हूं कि आपके जाल में फंस जाऊं। दरअसल, अय्यर ने 2017 में पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में दिए गए अपने विवादित बयान ‘नीच किस्म का आदमी’ को सही ठहराते हुए हाल ही में एक लेख लिखा है। गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान अय्यर के दिए इस बयान पर काफी बवाल मचा था और बाद में कांग्रेस नेता को माफी मांगनी पड़ी थी। बता दें कि कांग्रेस ने अय्यर के लेख को निजी बताते हुए उनके बयान से पल्ला झाड़ लिया है। अय्यर ने शिमला में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुझे जवाब देने की कोई जरूरत नहीं है। इस बारे में कांग्रेस की तरफ से बयान जारी किया गया है। उसे दिखा दीजिए। लेख पर लगातार सवाल पूछे जाने पर अय्यर ने कहा कि यह पूरा आर्टिकल है। आप एक पंक्ति को लेकर मेरे पीछे पड़े हैं। मीडिया का काम है हमारा विरोध करना। सत्ता पक्ष मीडिया को लगातार दबा रहा है। आज बहुत बड़ा हिस्सा दब भी गया है, इसलिए मैं जरा सावधान रहता हूं। मैं पहले शिकार बना हूं। मुझे बहुत नुकसान पहुंचाया गया है। जब आज मुझे अपने को बचाने का मौका मिला है, तो मैं मीडिया से बात कर क्यों वेस्ट करूं। आप मधुमक्खी जैसे हो, जहां शहद हो वहां पहुंच जाते हो। मुझको बर्बाद करके आप कल किसी और फूल पर पहुंच जाओगे। हाल ही में छपे एक लेख में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल की रैलियों के बयानों का हवाला देते हुए कहा है कि याद है 2017 में मैंने मोदी को क्या कहा था? क्या मैंने सही भविष्यवाणी नहीं की थी? उधर, कांग्रेस ने अय्यर बयान से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि गलत बयान देने वालों पर अध्यक्ष राहुल गांधी कार्रवाई करते हैं। पार्टी नेता पवन खेड़ा ने कहा कि पीएम मोदी ने संवाद का स्तर नीचे गिराया है। अय्यर के नीच बयान को सही ठहराने पर भाजपा हमलावर हो गई है। पार्टी नेता संबित पात्रा ने ट्वीट कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की प्यार की राजनीति में गांधी परिवार के और एक मणि ने मोदी जी पर दिए गए अपने पूर्व के नीच बयान को सही ठहराते हुए कुछ और योगदान किया है। भाजपा प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने अपने ट्वीट में कहा कि ‘अपशब्द कहने का मुखिया (एब्यूजर इन चीफ)’ 2017 की अपनी नीच टिप्पणी को उचित ठहराने लौटे। उन्होंने कहा कि अय्यर ने तब अपनी खराब हिंदी का बहाना बनाकर माफी मांगी थी। अब वह कह रहे हैं कि उनका आकलन सही था। कांग्रेस ने पिछले साल अय्यर के निलंबन को वापस ले लिया था। कांग्रेस का दोहरा चरित्र और अहंकार फिर सामने आया है।

मीडिया एक पंक्ति को लेकर मेरे पीछे पड़ा है। मैं इतना बड़ा उल्लू नहीं हूं कि आपके जाल में फंस जाऊं। मैं पहले शिकार बना हूं। मुझे बहुत नुकसान पहुंचाया गया है। जब आज मुझे अपने को बचाने का मौका मिला है, तो मैं मीडिया से बात कर क्यों वेस्ट करूं। आप मधुमक्खी जैसे हो, जहां शहद हो वहां पहुंच जाते हो। मुझको बर्बाद करके आप कल किसी और फूल पर पहुंच जाओगे  – मणिशंकर अय्यर

हिमाचल में राजनीतिक माहौल बेहतर

मणिशंकर अय्यर ने हिमाचल में राजनीतिक माहौल को दूसरे राज्यों की अपेक्षा बेहतर बताया। उन्होंने कहा कि शुक्र है कि हिमाचल में उस तरह की राजनीति नहीं होती जैसी और जगह हो रही है। मणिशंकर अय्यर ने कहा कि पांच साल की उम्र में वह शिमला में रहे हैं। पुराना शिमला आज भी वैसा ही दिखता है, जहां लोग शांति से रहते हैं और पैदल चलकर घूमने का आनंद लेते हैं।

You might also like