शिमला में 10 को डायरिया, 4 को पीलिया

शिमला —शिमला में जलजनित रोगांे का खौफ नहीं थम रहा है। राजधानी मंे 10 मामले फिर डायरिया के शिकार हुए हंै। खराब खान-पान की वजह से शिमला मंे दो दिनांे मंे अब 28 लोग प्रभावित हुए हैं। जानकारी के मुताबिक इन प्रभावितांे ने डीडीयू और आईजीएमसी मंे इलाज करवाया है। आंकड़ांे पर गौर करें तो प्रतिदिन चार से पांच मामले डायरिया से प्रभावित इलाज करवाने आ रहे हंै, जिसमंे बच्चांे की संख्या सबसे ज्यादा है। वहीं, आईजीएमसी के मेडिसिन विभाग मंे गुरुवार को पांच बच्चे डायरिया की चपेट मंे आए हैं। वहीं तीन मामले पीलिया के आए हैं उन्हांेने आईजीएमसी और रिपन मंे इलाज करवाया है। फिलहाल अभी राजधानी के लिए यह भी अच्छी खबर है कि पानी के लैब भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट ठीक आ रही है। लिहाजा डाक्टरांे का यह कहना है कि अपने खान- पान मंे स्वच्छता बरतंे। पानी के सैंपलस की रिपोर्ट पर गौर करें तो शिमला मंे पानी के दो अन्य भी सैंपल पास हो गए हैं। आईजीएमसी से यह रिपोर्ट आई है। हालांकि अभी भी शिमला मंे पानी के सैंपल फेल होने का सिलसिला जारी है लेकिन गुरुवार को बीते चार दिन पहले पानी के लिए गए तीन सैंपलस पास हुए हैं। अभी दो ऐसे सैंपल भी हैं, जो निजी टंकियांे से लिए गए हैं। फिलहाल जिसकी रिपोर्ट मंे अब जो सैंपल पास हुए हैं वे सार्वजनिक टंकियांे से लिए गए थे। ये सैंपल शिमला शहर से लिए लैब भेजे गए थे।

बढ़ रहा है ग्राफ गाइडलाइन जारी

जानकारी के मुताबिक अभी जो जलजनित प्रभावितांे के  मामले आ रहे हैं उनकी संख्या ज्यादा नहीं है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने साफ किया है कि इसके लिए जनता क ो भी अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। लोग अभी भी बासी भोजन का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस पर स्वास्थ्य विभाग ने यह भी गाइडलाइन जारी की है कि जनता पानी को उबाल कर ही पिए।

You might also like