शेयर बाजार की सुस्‍त शुरुआत, लाल निशान पर खुला सेंसेक्‍स

अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव गहरा होने का असर भारतीय शेयर बाजार पर भी देखने को मिल रहा है. सप्‍ताह के तीसरे कारोबारी दिन बुधवार को बाजार ने मंगलवार की बढ़त गंवा दी और सेंसेक्‍स करीब 40 अंक से ज्‍यादा टूटकर 39,750 के नीचे खुला. इसी तरह निफ्टी भी 20 अंक टूटकर 11,920 के स्‍तर पर रहा.

शुरुआती कारोबार के दौरान टीसीएस, पावर ग्रिड और यस बैंक के शेयर में 1 फीसदी से अधिक की तेजी देखने को मिली. वहीं एसबीआई, वेदांता, आईसीआईसीआई बैंक के अलावा एयरटेल और हीरो मोटोकॉर्प के शेयर 1 फीसदी से अधिक टूट गए.

इस बीच अमेरिका-चीन का तनाव अमेरिकी शेयर बाजार पर देखने को मिला और बाजार गिरावट के साथ बंद हुए. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, मंगलवार को डाव जोंस इंडस्ट्रियल एवरेज 237.92 अंकों यानी 0.93 फीसदी की गिरावट के साथ 25,347.77 पर रहा.

अगर रुपये की बात करें तो बुधवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 6 पैसे की कमजोरी के साथ खुला. बुधवार को शुरुआती कारोबार में रुपया 69.75 प्रति डॉलर के भाव पर रहा. इससे पहले आयातकों की डॉलर मांग और कच्चे तेल के दाम बढ़ने से रुपया मंगलवार को अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 18 पैसा टूटकर 69.69 पर पहुंच गया.  बता दें कि सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 69.51 पर बंद हुआ था.

मंगलवार को शेयर बाजार का हाल

इससे पहले मंगलवार को देश के शेयर बाजारों में मामूली तेजी दर्ज की गई. सेंसेक्स 66.44 अंकों की बढ़त के साथ 39,749.73 पर बंद हुआ तो वहीं निफ्टी चार अंकों की तेजी के साथ 11,928.75 के स्‍तर पर रहा. दिन भर के कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने 39,828 के ऊपरी और 39,498  के निचले स्तर को छुआ. वहीं निफ्टी की बात करें तो यह 11 हजार 958 के ऊपरी और 11 हजार 865  के निचले स्तर को छुआ.

यह लगातार तीसरा दिन था जब शेयर बाजार के दोनों सूचकांक नई ऊंचाई पर बंद हुए. बता दें कि लोकसभा चुनावों में भाजपा को मिली शानदार जीत से निवेशक का भरोसा भारतीय बाजार पर बढ़ा है. अब निवेशक धीरे-धीरे वैश्विक और घरेलू कारकों जैसे व्यापार शुल्क विवाद, वृहद आर्थिक आंकड़े और मानसून की शुरुआत समेत अन्य चीजों पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं.

You might also like