संस्थान ने हड़पी स्कॉलरशिप

इंदौरा के प्राइवेट इंस्टीच्यूट पर छात्राओं ने लगाए आरोप, चेक बाउंस के केस लगाने की भी धमकियां

ठाकुरद्वारा – इंदौरा क्षेत्र के एक निजी शिक्षण संस्थान पर छात्राओं की छात्रवृत्ति हड़पने, उनका मानसिक उत्पीड़न करने व चेक बाउंस के केस लगाने की धमकियों का मामला सामने आया है। इस बारे लड़कियों ने एसडीएम व पुलिस थाना इंदौरा में एक शिकायत पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है। लड़कियों ने आरोप लगाते हुए कहा कि शिक्षण संस्थान ने एक बैंक से मिलिभगत कर नाबालिग लड़कियों के खाते खुलवाकर चेकबुक इशू करवाकर ब्लैंक चेक रख लिए और अब उनके खाते में जब सरकार द्वारा दी जाने वाली छात्रवृत्ति आई है, तो संस्थान छात्रवृत्ति की राशि निकलवाकर संस्थान को देने के लिए दबाव बना रहा है। उन्होंने बताया कि कई लड़कियों के खाते में आई स्कॉलरशिप की राशि संस्थान ने ले ली है और अन्य पर नाबालिग अवस्था में अनजाने में दिए गए चेक को लगाकर चेक बाउंस का केस लगाने की धमकी दी जा रही है, जिससे लड़कियों को मानसिक रूप से उत्पीड़न का शिकार होना पड़ रहा है। इस बारे रजनी, दीपशिखा, कोमल, तृपता, श्वेता, मोनिका, कोमल, अमन व शांति देवी ने कहा कि यदि यह राशि जो सरकार द्वारा छात्राओं के खाते में आई है, इस पर संस्थान का अधिकार है, तो यह संस्थान के खाते में क्यों नहीं आई और अब जब छात्रवृत्ति लड़कियों के खाते में आई है, तो संस्थान उस राशि पर अपना अधिकार कैसे बता सकता है। यदि ये आरोप सच्चे हैं, तो जाहिर है संस्थान द्वारा निश्चित रूप से अब तक लाखों रुपए की छात्रवृत्ति हड़प ली गई होगी।

बैंक-संस्थान से रिकार्ड तलब

बैंक प्रबंधन की मानें तो दस साल से अधिक की आयु वर्ग का उपभोक्ता चेकबुक मांग सकता है और उसे दिए गए चेक को नाबालिग उपभोक्ता मात्र अपने लिए प्रयोग कर सकता है, किसी अन्य को चेक नहीं दे सकता। एसएचओ सुरेंद्र सिंह ने बताया कि शिकायतपत्र पर जांच की जा रही है। यदि कुछ संदिग्ध पाया गया, तो मुकदमा दर्ज किया जाएगा। एसडीएम गौरव महाजन ने बताया कि वह स्वयं संबंधित बैंक शाखा व संस्थान में गए थे। उन्होंने रिकॉर्ड तलब किया है। जांच हेतु मामला निदेशक तकनीकी शिक्षा विभाग को भेजा जाएगा।

You might also like