सकोह में एंबुलेंस राख

धर्मशाला -जिला मुख्यालय धर्मशाला से महज तीन किलोमीटर दूर सकोह में मुख्य मार्ग पर एंबुलेंस में अचानक आग लग गई। बुधवार को करीब एक बजकर 40 मिनट पर हुए   इस हादसे में गाड़ी पूरी तरह जलकर राख हो गई।  एंबुलेंस पिछले कई दिनों से खराब चल रही थी और गगल में एक निजी सर्विस स्टेशन पर कई दिनों बाद गाड़ी रिपेयर करवाकर चालक धर्मशाला ला रहा था कि सकोह की चढ़ाई पर अचानक गाड़ी गर्म हो गई और इंजन से धुआं छोड़ने लगी। एंबुलेंस चालक ने गाड़ी रोककर नीचे उतरकर देखा तो गाड़ी के इंजन वाले हिस्से में आग लग चुकी थी। यह हादसा राजकीय प्राथमिक पाठशाला के ठीक सामने मुख्य सड़क पर हुआ। चालक ने इसकी सूचना अपने उच्च अधिकारियों सहित पुलिस विभाग और अग्निशमन विभाग को  दी। गाड़ी ने अचानक इतनी आग पकड़ ली कि लपटों पर काबू पाना मुश्किल हो गया, जिसके बाद चालक ने प्राथमिक स्कूल में आग लगने की सूचना अध्यापकों को दी और एंबुलेंस में सिलेंडर होने की सूचना भी अध्यापकों को दी कि गाड़ी में धमाका भी हो सकता हैं। इसके बीच सड़क व प्राथमिक पाठशाला में धुआं ही धुआं फैल गया। अध्यापकों ने खतरे का आभास होते ही तत्काल बच्चों को स्कूल से छुट्टी कर सुरक्षित घरों को भेज दिया। गाड़ी में दो आक्सीजन के सिलेंडर रखे हुए थे धमाका हो जाता तो बहुत बड़ा हादसा हो सकता था। सड़क की दोनों तरफ जाम लग गया। चार किलोमीटर की दूरी में लगभग पुलिस व अग्निशमन विभाग करीब पौना घंटे बाद पहुंचे। मौके पर पहुंचकर ट्रैफिक व्यवस्था को कंट्रोल किया और अग्निशमन विभाग ने आग पर काबू पा लिया। आग इतनी भयानक थी कि सड़क के किनारे पर पेड़ व साथ लगती झाडि़यों ने भी आग पकड़ ली थी।

आखिर गलती किसकी

एंबुलेंस चालक ने बताया कि पिछले कई दिनों से गाड़ी सर्विस स्टेशन पर खड़ी थी और पहले भी मेकेनिक ने गाड़ी दो बार ठीक कर हमें सौंप दी थी, लेकिन तब भी खराब हो गई। बुधवार को टेस्ट ड्राइव के दौरान उसने मेकेनिक को बताया था कि इंजन में आवाज आ रही है। मेकेनिक ने बताया कि आवाज ऐसी ही आती है और गाड़ी बिलकुल ठीक है, जिसके चलते चालक वाहन को लेकर धर्मशाला के लिए रवाना हो गया पर बीच रास्ते में ही गाड़ी ने आग पकड़ ली और वाहन पूरी तरह आग की चपेट में आकर क्षतिग्रस्त हो गया।

You might also like