सनेड के लोग पी रहे गंदा पानी

हमीरपुर—ग्राम पंचायत ऊखली का सनेड गांव इन दिनों गंदा पानी पीने को मजबूर है। यहां स्थापित हैंडपंप की सुध लेने वाला कोई नहीं। संबंधित विभाग को अवगत करवाने के बावजूद इस हैंडपंप की फ्लशिंग नहीं करवाई जा रही। आलम यह है कि संबंधित विभाग के क्षेत्र अधिकारी फोन कॉल तक रिसीव करना उचित नहीं समझते। ग्रामीण आखिर अपनी फरियाद करें तो किस से करें। शिकायत मिलने के बाद समस्या के समाधान का वादा करने के बाद विभागीय अधिकारी मौन हैं और समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है। विभाग की लचर कार्यशैली से क्षेत्र के ग्रामीण भी खासे परेशान हैं। हैंडपंप से निकलने वाला पानी मनुष्य तो क्या मवेशियों के पीने लायक भी नहीं। बता दें कि गर्मियों के सीजन में पानी के लिए क्षेत्र में हर बार हाहाकार मचती है। ऐसे में हैंडपंप ही ग्रामीणों का सहारा होता है। इसका पानी न सिर्फ मनुष्य बल्कि मवेशियों की भी प्यास बुझता है। सनेड गांव में सड़क किनारे स्थित हैंडपंप के पानी पर दर्जनों परिवार निर्भर हैं, लेकिन अब यह हैंडपंप भी गंदा पानी उगलने लगा है। समस्या से ग्रामीण विभाग को अवगत करवा चुके हैं, लेकिन सुनवाई करने वाला शायद कोई नहीं है। क्षेत्र के ग्रामीणों अभिलाष, आंेकार, सन्नी, नरेश, आशीष, विनय, मनोहर लाल, रत्न चंद आदि ने संबंधित विभाग से मांग की है कि जल्द इस हैंडपंप की सुध ली जाए। अगर जल्द हैंडपंप को ठीक नहीं किया तो विभगीय कार्यालय का घेराव होगा, जिसकी जिम्मेदारी संबंधित विभाग की होगी।

You might also like