सभी को आवास सबसे बड़ी चुनौती

पंचकूला में नई सरकार के सामने चुनौतियां विषय पर मंथन

पंचकूला –पंचनद शोध संस्थान के पंचकूला अध्ययन केंद्र की ओर से सोमवार को सेक्टर-दस स्थित गुर्जर भवन में विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में नई सरकार के सामने चुनौतियां विषय पर चर्चा हुई। विषय की प्रस्तुति कर रहे विशेषज्ञों ने कहा 2022 तक सभी के लिए आवास की व्यवस्था करना, आतंरिक सुरक्षाए ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता, धारा 370 को हटाना और जनसंख्या के बिगड़ते संतुलन ठीक करना और सभी नागरिकों को स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करवाना बड़ी चुनौतियां हैं। गोष्ठी में पंचनद शोध संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष डा. कृष्ण सिंह आर्य, निदेशक प्रो. बृजकिशोर कुठियाला सहित बड़ी संख्या में शहर के प्रबुद्ध नागरिक उपस्थित रहे। विषय की प्रस्तुति कर रहे क्रीड के प्रोफेसर मनोज तेवतिया ने कहा कि देश के विकास के लिए प्रति व्यक्ति आय का फार्मूला अब पर्याप्त नहीं है। इससे आगे बढ़कर लोगों के रहन.सहन और उनके सुख के स्तर का भी आंकलन करना होगा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य बीमा की तरफ पहली बार किसी सरकार का ध्यान गया हैए लेकिन गरीबी उन्नमूलन की दिशा में कदम उठाए जाने की आवश्यकता है।

You might also like