समर सीजन…मनाली जाम

मनाली—समर सीजन की शुरुआत में ही टै्रफिक जाम सैलानियों के लिए आफत बन गया है। विकेंड पर मनाली में सैलानियों की संख्या में खासा इजाफा देखने को मिला, वहीं पर्यटक नगरी की सड़कें भी ट्रैफिक जाम से पूरी तरह जूझती दिखाई दी। रविवार को भी मनाली के विभिन्न स्थलों पर ट्रैफिक जाम लगने से सैलानियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बात यहां मनाली से रोहतांग की तरफ की करें, तो गुलाबा बैरियर तक पहुंचना ही सैलानियों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं रहा। मनाली के बैली ब्रिज पर ही सबसे पहले ट्रैफिक जाम का सामना सैलानियों का रविवार को हो गया। यही नहीं यहां से नेहरू कुंड तक हालात काफी खराब रहे। पहाडि़यों से हो रहे पानी के रिसाव व भू-स्खलन इस बार समर सीजन में ट्रैफिक जाम को अंजाम दे रहा है। 16 मील में तो एनएच पर दलदल वाहन चालकों के लिए आफत बना हुआ है। एक तरफ  पहाड़ी से भू-स्खलन तो दूसरी तरफ पानी का रिसाव सड़क पर दलदल बनाए हुए हैं। यही नहीं डोभी पुल पर भी रोजाना टै्रफिक जाम समर सीजन की शुरुआत में ही पर्यटन करोबारियों के कारोबार पर असर डाल रहा है। मनाली शहर में समर सीजन के शुरुआती दौर में ही ट्रैफिक जाम सभी के लिए नई आफत बन कर सामने आने लगा है। ओल्ड मनाली से लेकर मनु रंगशला तक लगने वाले ट्रैफिक जाम ने रविवार को भी सैलानियों को घंटो परेशान कर रखा। हलांकि पुलिस प्रशासन यहां ट्रैफिक जाम को बहाल करने में खासी कसरत करते दिखाई दिए, लेकिन विकेंड पर मनाली में पर्यटक वाहनों की संख्या में हुआ इजाफा यहां ट्रैफिक जाम का कारण बन गया है। पुलिस प्रशासन का ट्रैफिक को लेकर मास्टर प्लान भी काम करता नजर नहीं आ रहा है। शहर में लगातार बड़ रहे पर्यटक वाहनों के लिए पार्किंग स्थल कम पड़ रहे हैं, तो दूसरी तरफ सड़क पर लग रहा ट्रैफिक जाम सबके लिए परेशानी का कारण बना हुआ है। लोगों का कहना है कि प्रशासन को समय रहते ही मनाली के ट्रैफिक पर काम करना चाहिए था। उधर, एसपी कुल्लू शालिनी अग्निहोत्री का कहना है कि मनाली में ट्रैफिक जाम की समस्या को लेकर काम किया जा रहा है। शहर की सड़कों पर ट्रैफिक जाम न लगे इसके लिए योजना तैयार कर ली गई है। ट्रैफिक पुलिस के सहयोग के लिए होमगार्ड जवानों की भी मदद ली जा रही है।

You might also like