सरकाघाट-रामनगर-लाका सड़क बनी खड्ड

15 साल से सरकार से ग्रामीण लगा रहे गुहार, लेकिन कोई नहीं दे रहा ध्यान

सरकाघाट –सरकाघाट रामनगर लाका दो किलोमीटर संपर्क सड़क पिछले 15 वर्षों से विभाग की अनदेखी के चलते सड़क कम खड्ड ज्यादा नजर आती है। यह सड़क नगर पंचायत सरकाघाट के दायरे और लोक निर्माण विभाग के कार्य क्षेत्र मंे पड़ती है। यह सड़क रामनगर व लाका दो वार्डों के 400 परिवारों के सैंकड़ों लोगों को सुविधा प्रदान ही नहीं करती है बल्कि संयुक्त कार्यालय भवन में कार्यरत अधिकारी व कर्मचारी, स्कूल के सैंकड़ों बच्चों व अध्यापकों, सिविल कोर्ट मंे प्रतिदिन आने जाने वाले सैकड़ों लोगों, पुलिस स्टेशन के पुलिस कर्मियों, निजी स्कूल व प्राथमिक स्कूल के बच्चे इसी सड़क मार्ग का लाभ ले रहे हंै। वहीं दूसरी और विश्रामगृह व सिविल कोर्ट को भी इसी सड़क से आना-जाना रहता है और इस सड़क की हालत खस्ता बनी हुई है। पार्षद शकुंतला देवी, पूर्व पार्षद रीता देवी, देवी चंद, एडवोकेट रूपलाल, चमन लाल, ज्ञान चंद, रतन चंद, कृष्ण चंद, दामोदरी देवी, राजेश कुमार, बालम कौंडल, रमेश चंद, पवन कुमार, राजकुमार, सुरेश कुमार, हेमराज, प्रवीन कुमार, विकू आदि ने बताया की छह माह पूर्व स्थानीय विधायक कर्नल इंद्र सिंह ने लोक निर्माण विभाग को 15 दिनों मंे इस सड़क को कंक्रीट से पक्का करने व नालियां बनाने के साथ सीवरेज को भी चालू करने के आदेश दिए थे। लेकिन विभाग ने सड़क में कंक्रीट डालना तो दूर की बात रही। लेकिन मुड़ कर देखा भी नही, न ही सड़क किनारे नालियां बनी है, जिसकी वजह से सैप्टिक टैंक की गंदगी व घरों का गंदा पानी खुले में सड़क पर बह रहा है और सड़क के निचली तरफ  बने जलस्रोतों को भी गंदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस गंदगी की सड़क को पक्का करने और नालियों को पक्का करने को लेकर विभाग व विधायक से कई बार अवगत करवा चुके हैं। लेकिन कोई कार्रवाई नही हो पाई है। विभाग के इस रवैये से खफा हुए ग्रामीणों ने कहा कि जो भी सड़क को पक्का करने व सीवरेज से जोड़ने का वादा करेगा वोट भी उसी को दिया जाएगा।

 

You might also like