सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बदलाव

बंजार  –16 मई से शुरू होने वाले पांच दिवसीय जिला स्तरीय बंजार मेले की रूपरेखा को लेकर उपमंडल अधिकारी नागरिक बंजार एमआर भारद्वाज के सभागार में मेला कमेटी बंजार ने बैठक का आयोजन मेला कमेटी अध्यक्ष देवता शृंगा ऋषि कारदार वीरेंद्र कुमार के साथ की। बैठक में सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बदलाव व प्लाट आबंटन को लेकर चर्चा की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि आराध्य देवता शृंगा ऋषि के सम्मान में मनाए जाने वाले बंजार मेले का शुभारंभ देवता आगमन 16 मई से किया जाएगा। वहीं सांस्कृतिक कार्यक्रम की तिथियों के बदलाव के चलते इस बार 16 मई की रात्रि को सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होगा, जहां पर 17 मई को दिन में कार्यक्रम होगा व 17 मई की रात्रि में कोई भी सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं किए जाएंगे। 18 मई को दिन व रात्रि के कार्यक्रम भी नहीं होंगे। 19 मई मतदान के दिन के समय कोई भी सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं होगा व 19 मई की रात्रि को सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। बंजार मेले के आखिरी दिवस 20 मई को दिन व रात में कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। वहीं , कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि कौन उपस्थित रहेंगे, इसे लेकर कोई खास चर्चा अभी नहीं हो पाई है। पांच दिवसीय बंजार मेले को सुचारू रूप से चलाने के लिए मेले में सफाई और कानून व्यवस्था खास तौर पर जोर दिया गया । मेला कमेटी बंजार के अध्यक्ष देवता शृंगा ऋषि के कारदार वीरेंद्र कुमार, उपाध्यक्ष वली राम, देवता शृंगा ऋषि पुजारी मोहर सिंह शर्मा, सचिव दिनेश कुमार, कोषाध्यक्ष टीसी डोगरा ने बताया कि मेले के लिए प्लाट आबंटन 13 व 14 मई को किया जाएगा तथा मेले को सुचारू तरीके से चलाने के लिए  लिए 13 उपसमितियों का गठन किया गया, जिसमें स्वागत उपसमिति , प्लॉट आबंटन उपसमिति, धन एकत्र उपसमिति, मेला सामान उपसमिति , पशु मेला उपसमिति, सांस्कृतिक कार्यक्रम उपसमिति, स्वास्थ्य विद्युत पानी उपसमिति, आवास उपसमिति, परिवहन उपसमिति, मेला सजावट उपसमिति, खेलकूद उपसमिति, रात्रि सांस्कृतिक कार्यक्रम उपसमिति , देवी-देवता उपसमिति शामिल है, जो कि अपना-अपना काम शुरू करेगी ताकि मेले में किसी प्रकार की कमी न रहे ।

 

You might also like