साइबर क्राइम और सतर्कता

 राजेश कुमार चौहान

हमारा देश डिजिटल लेन-देन की ओर कदम तो बढ़ा चुका है, लेकिन कुछ साइबर चोर  ठगी करके इस राह में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। इसका कारण डिजिटल लेन-देन की सुरक्षा में कमी या फिर लोगों में इसके प्रति जागरूकता की कमी है। इसका सभी को ख्याल रखना चाहिए कि अपना क्रेडिट, डेबिट कार्ड, इनके ओटीपी किसी के साथ शेयर नहीं करने चाहिए। देश में बढ़ते साइबर धोखाधड़ी के मामलों के लिए साइबर क्राइम सेल को भी चुस्ती दिखानी चाहिए। रिजर्व बैंक को भी चाहिए कि इसके लिए वह बैंकों को विशेष हिदायतें दे कि बैंक अपनी कार्य प्रणाली को ज्यादा से ज्यादा सुरक्षित बनाएं, खासतौर पर ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के लिए।

 

You might also like