सात राज्यों से 60 शिक्षकों ने रखे विचार

शिमला—हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के सूचना एवं प्रौद्योगिकी संस्थान यूआईआईटी में शुक्रवार को शिक्षकों के लिए तीन दिवसीय संकाय विकास कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि डा. नीतू भगत उप निदेशक अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने देश भर के  तकनीकी संस्थानों से आए 60 शिक्षकों का आह्वान किया गया। इस अवसर पर डा. नीतू भगत ने कहा कि  केवल अध्यापक ही देश का उज्जवल भविष्य बनाने के लिए अपनी अग्रणी भूमिका निभाते हैं। उन्होंने कहा कि तीन सप्ताह का इंडक्शन प्रोग्राम सभी तकनीकी विद्यालयों में आगामी शैक्षणिक सत्र से अमल में लाना अनिवार्य किया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं के बारे में प्रतिभागियों को अवगत कराया। संस्थान के निदेशक प्रो. पीएल शर्मा ने कहा कि यूआईटी में यह तीन दिवसीय संकाय विकास कार्यक्रम पहली बार किया जा रहा है। प्रो. पीएल शर्मा ने बताया कि इस कार्यक्रम में 60 शिक्षकों ने देश के सात राज्यों से भाग लिया है। इस दौरान डा. परमजीत सिंह, प्रो. रमिंदर सिंह उप्पल, प्रोफेसर जवाहर ठाकु र शामिल रहे।

You might also like