सावधान ! रोहतांग दर्रे की सड़क पर दलदल

मनाली—रोहतांग दर्रे के बहाल होने के बाद जहां लाहुल घाटी के लोगों ने राहत की सांस ली है, वहीं दर्रे से गुजरना अभी भी खतरों से खाली नहीं है। दर्रे की सड़क पर कुछ जगहों पर दलदल बना हुआ है, जिसमें बड़े वाहनों के फंसने के कारण वाहनों की आवाजाही भी प्रभावित हो रही है। यहां बता दें कि सोमवार को भी दर्रे पर एक ट्रक के फंस जाने से जहां मनाली-लाहुल सड़क पर दो घंटे  यातायात व्यवस्था ठप रही, वहीं एचआरटीसी की बसों समेत दर्जनों वाहनों में सैकड़ों लोग दर्रे के दोनों छोर पर फंसे रहे। हालांकि मंगलवार को जहां बीआरओ के अधिकारियों ने रोहतांग की सड़क पर विभिन्न जगहों पर बने दलदल को साफ करने की बात कही है, वहीं इस बार रोहतांग दर्रे पर बर्फ इतनी अधिक है कि सड़क के दोनों तरफ बर्फ की दीवारें खड़ी हो गई हैं। रोहतांग दर्रे के बहाल होने के बाद सबसे पहले जहां लाहुल के लिए जहां जरूरी सामान की सप्लाई भेजी गई है, वहीं वाहनों को चलाने के लिए निगम के तेल के टैंकर भी लाहुल तेल लेकर पहुंचे हैं। हालांकि दर्रे को बहाल हुए दस दिन से अधिक हो गए हैं, लेकिन अभी भी मनाली-केलांग सड़क पर सफर करना किसी जोखिम से कम नहीं है। उधर, एचआरटीसी के केलांग डिपो के आरएम मंगलचंद मनेपा का कहना है कि मनाली-केलांग रूट पर जहां डिपो की बस सेवा बहाल कर दी गई है, वहीं रोहतांग दर्रे से गुजरना अभी भी खतरे से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि कुछ जगहों पर सड़क पर दलदल बना हुआ है, जिस कारण वहां बड़े वाहन फंस रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह चालकों से आग्रह करना चाहते हैं कि रोहतांग दर्रे को पार करते समय गाड़ी में बर्फ हटाने का समान जरुर रखें। बहरहाल रोहतांग दर्रे की सड़क ड्राइवरों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है।

You might also like