सिकरीधार में सीमेंट कारखाने की आस

चंबा—वरिष्ठ भाजपा नेता रविंद्र सिंह किश्तवाडि़या ने कहा है कि चंबा जिला के माथे से पिछडे़पन का दाग मिटाकर इसे विकास की मुख्यधारा से जोड़ना फिलहाल अभी तक चुनौती बना हुआ है। उन्हांेने कहा कि दृढ राजनीतिक इच्छाशक्ति के अभाव के कारण ही आज जिला के यह हालात है। उन्होंने कहा कि सिकरीधार में सीमेंट कारखाने की स्थापना अभी तक लोगों के लिए सपना बना हुआ है। जिला की शेष हिस्सों से दूरी को पाटने के लिए सुरंग निर्माण का कंसेप्ट भी सिरे नहीं चढ़ पाया है। मेडिकल कालेज के भवन का निर्माण कार्य भी अभी तक आरंभ नहीं हो पाया है। ऐसे में अब केंद्र में दोबारा से एनडीए सरकार की ताजपोशी व प्रदेश में भाजपा शासित सरकार होने के चलते लोगों को इन प्रोजेक्टों पर प्रभावी कार्रवाई होने की उम्मीद जगी है। रविंद्र सिंह किश्तवाडि़या ने कहा कि एनडीए ने अपने पिछले कार्यकाल में चंबा जिला को एस्पिरेशनल जिला की सूची में शामिल कर विकास की मुख्यधारा से जोड़ने की सकारात्मक पहल की। मगर बात केवल घोषणाओं तथा फाइलों तक ही सिमटी रही। ऐसे में अब लोगों को उम्मीद है कि इस दिशा में सकारात्मक कार्रवाई होगी।  वर्षों से लटकी विकास योजनाआंे को गति मिलने से जिला के लोगों के दिन बहुरेंगे। रविंद्र सिंह किश्तवाडि़या ने केंद्र व प्रदेश सरकार से अनुरोध किया है कि चंबा जिला के विकास पर विशेष ध्यान दें। और जिला की विकास की योजनाओं को मूर्तरूप देकर विकास की एक नई इबारत लिखे।

You might also like