सिरमौर में नहीं खुला केंद्रीय विद्यालय

जिला में वर्तमान में एक भी सेंटर स्कूल नहीं, पांवटा से लंबे समय से उठ रही है मांग

पांवटा साहिब -जिला सिरमौर में एक भी सेंटर स्कूल नहीं है। विकास के पथ पर अग्रसर जिला सिरमौर में केंद्रीय विद्यालय की जरूरत महसूस हो रही है। यहां पर सालों पहले राजबन मंे खुले केंद्रीय विद्यालय के बंद होने के बाद अब यह मांग समय के मुताबिक फिर से जोर पकड़ने लगी है। यह मांग आई है पांवटा साहिब से। यहां की सामाजिक संस्थाओं व शिक्षाविद्ध मांग कर रहे हैं कि प्रदेश के प्रत्येक जिला को केंद्र द्वारा दिए जा रहे केंद्रीय विद्यालय को पांवटा साहिब मंे खोला जाए। जिला भी एक सेंटर स्कूल का हकदार है इसलिए उसे यह हक मिलना चाहिए। जानकारी के मुताबिक केंद्र सरकार द्वारा प्रदेश के सभी जिलों को एक-एक केंद्रीय विद्यालय देने प्रस्तावित थे। प्रदेश के मंडी जिला मंे तो दो-दो केंद्रीय विद्यालय खुल रहे हैं, परंतु जिला सिरमौर में एक विद्यालय भी नहीं खुला है। जानकारी के मुताबिक शिक्षा विशेषज्ञ मानते हंै कि जिला मंे पांवटा साहिब केंद्रीय विद्यालय के लिए उपयुक्त स्थान है। सबसे बड़ा कारण तो तीन-तीन राज्यों की सीमा से छूता नगर होना है। दूसरे यहां पर केंद्र के अधीन स्थापित उपक्रम भी है, जहां कर्मचारियों के बच्चे इस विद्यालय का लाभ ले सकते हंै, जिनमें सीसीआई सहित डीआरडीओ, आईआईएम, बीएसएनएल, डाक विभाग आदि शामिल हैं, जिनके कर्मचारियों के बच्चे इस स्कूल का लाभ ले सकते हैं। जानकारी के मुताबिक 70 के दशक में जब पांवटा साहिब के राजबन में भारत सरकार के उपक्रम सीसीआई की स्थापना हुई तो राजबन मंे एक केंद्रीय विद्यालय खोला गया था। हालांकि उस समय किन्हीं अपरिहार्य कारणों से वह नहीं चल पाया तथा उस जमीन व स्कूल भवन का इस्तेमाल आज एक संस्थान द्वारा व्यवसायिक कोर्सों के लिए किया जा रहा है, जो नियमों के विपरित है। इस संस्थान को स्कूल के लिए भवन दिया गया, परंतु उसने पांवटा मंे चल रहे अपने निजी बीएड कालेज स्कूल कैंपस में ही शिफ्ट कर दिया है। जानकारी के मुताबिक आज जिला में सैकड़ों केंद्रीय कर्मचारी कार्यरत हंै। तथा आईआईएम की कक्षाएं शुरू होने के बाद यह जिले मे खुलना और भी लाजिमी हो गया है। इसलिए पांवटा साहिब से यह मांग जोर पकड़ने लगी है। पांवटा साहिब की संस्थाओं का कहना है कि राजबन में इस स्कूल के लिए ढांचा पहले से ही तैयार है। बस सिर्फ  वहां पर कक्षाएं लगाने की देर है। इसलिए जिला के पांवटा साहिब मे केंद्रीय विद्यालय जल्द खुलना चाहिए।

 

You might also like