सिरमौर में बड़ी जीत के लिए लग रही शर्तें

एग्जिट पोल से भाजपा उत्साहित, कांग्रेस ने बताया मात्र दिखावा, कार्यकर्ताओं में टेंशन

नाहन – लोकसभा चुनाव की गुरुवार को होने वाली मतगणना को लेकर जहां जिला प्रशासन ने तमाम तैयारियां पूरी कर ली हैं, वहीं दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दल भाजपा व कांग्रेस जीत के दावे में व्यस्त हैं। इसके अलावा गुरुवार को आने वाले परिणाम को लेकर जिला में जहां स्थानीय स्तर पर  शर्तें लग रही हैं, वहीं सट्टेबाजी भी चरम पर है। वहीं, भाजपा जहां देश भर में एग्जिट पोल को लेकर उत्साहित है, वहीं कांग्रेस का कहना है कि एग्जिट पोल कोई फाइनल निर्णय नहीं है। देश भर की वास्तविक तस्वीर गुरुवार को सामने आ जाएगी। लिहाजा भाजपा व कांग्रेस जिला सिरमौर की पांचों विधानसभा सीटों पर अपनी-अपनी बढ़त के दावों को लेकर अंक गणित में उलझी हुई है। जहां भारतीय जनता पार्टी वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की करीब 27 हजार मतों की बढ़त से करीब 15 हजार अधिक मतों की बढ़त का दावा इस बार की बंपर वोटिंग से कर रहे हैं, वहीं कांग्रेस नेताओं को भी उम्मीद है कि वह पार्टी के पुराने किले को फिर से फतेह करने में सफल होगी। गौर हो कि जिला सिरमौर के पांच विधानसभा क्षेत्रों में वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को केवल शिलाई विधानसभा क्षेत्र से बढ़त नहीं मिली थी। शेष चार विधानसभा क्षेत्रों नाहन, पांवटा साहिब, पच्छाद व श्रीरेणुकाजी से भाजपा को करीब 27 हजार मतों की बढ़त मिली थी, जिसका परिणाम यह रहा था कि भारतीय जनता पार्टी के निवर्तमान सांसद वीरेंद्र कश्यप 84187 मतों से विजयी रहे थे। इससे पूर्व भी वर्ष 2009 के चुनाव में भी वीरेंद्र कश्यप को 27327 मतों से बढ़त मिली थी। भारतीय जनता पार्टी के शिमला सीट से प्रत्याशी व पच्छाद के विधायक सुरेश कश्यप दावा कर चुके हैं कि 23 मई को अपने वाले लोकसभा चुनाव के परिणाम में शिमला संसदीय सीट पर भारतीय जनता पार्टी भारी मतों से जीत दर्ज करेगी। गौर हो कि इस बार पांचों विधानसभा क्षेत्रों में 75 प्रतिशत मतदान दर्ज हुआ है।  उधर, मुख्यमंत्री भी स्पष्ट कह चुके हैं कि लोकसभा चुनाव की बढ़त विधायक का रिपोर्ट कार्ड तय करेगी। ऐसे में भाजपा नेताओं के लिए लोकसभा चुनाव में बढ़त दिलाना एक कठिन चुनौती बना हुआ है।

विधानसभा चुनाव 2017

विधानसभा           बढ़त        पार्टी   

नाहन                3990        भाजपा

पांवटा साहिब        12619       भाजपा       

पच्छाद               6427        भाजपा     

रेणुकाजी             5160        कांग्रेस

शिलाई               4125        कांग्रेस

You might also like