सीजन के बाद भी खाली चल रहे होटल

कुल्लू —देशभर में लोकसभा चुनावी माहौल चरम पर है। हर कोई चुनावों में अपनी सहभागिता निभाते हुए चुनावों में व्यस्त चल रहे है। वहीं, देशभर में चुनावी मौहल होने के चलते इसका सीधा असर इस बार कुल्लू-मनाली के पर्यटन कारोबार पर दिख रहा है। पर्यटन व्यवसाय पर इसका विपरीत असर पड़ने से पर्यटन से जुड़े कारोबारियों की माने तो पर्यटन सीजन होने के बाद भी पर्यटन कारोबार रफ्तार नहीं पकड़ पा रहा है। अधिकतर लोग अभी भी मंदी की मार झेल रहे है। जबकि 15 अप्रैल के बाद पर्यटन कारोबार तेजी से बढ़ता था जो कि अभी तक कछुआ चाल में ही चल पा रहा है।  उम्मीद है कि 19 मई को मतदान के बाद 23 मई को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद जरूर पर्यटन कारोबार में तेजी देखने को मिल सकती है। बरहाल, कुल्लू-मनाली का पर्यटन कारोबार उस तेजी से बढ़ता नजर नहीं आ रहा है जो कि हुआ करता था ।

बीआईबी स्वयं चुनावी ड्यूटी में व्यस्त

पर्यटन व्यवसायियों की मानें तो समर सीजन के दौरान बड़े आला अधिकारी व बीबीआईपी यहां घूमने फिरने आते हैं। निचले इलाकों में बच्चों को इन महीनों में ही छुट्टियां रहती है। जिसके चलते ही सैलानी पहाड़ों का रुख करते हैं। लेकिन चुनाव होने के कारण अधिकतर सरकारी कर्मचारियों की चुनावी ड्यूटियां लग चुकी है और बीआईबी स्वयं कई चुनावी ड्यूटी में व्यस्त है। जिसके चलते इसका सीधा असर पर्यटन नगरी में कारोबार पर पड़ा है।

You might also like