सूरत में इमारत सुलगी, 15 छात्रों समेत 18 की मौत

सूरत – सूरत के मुंबई-अहमदाबाद हाई-वे के पास स्थित एक कमर्शियल कांप्लेक्स में शुक्रवार को भीषण आग लग गई। आग में फंसे लोगों ने जान बचाने के लिए चार मंजिला बिल्डिंग से कूदना शुरू कर दिया। इसके चलते झुलसने और ऊंचाई से गिरने से 15 छात्रों समेत 18 लोग मारे गए। सूरत के पुलिस कमिश्नर सतीश कुमार मिश्रा ने 18 लोगों की मौत की पुष्टि करते हुए कहा कि अभी यह आंकड़ा और बढ़ सकता है। गौर हो कि सरथना इलाके में स्थित तक्षशिला कांप्लेक्स एक कमर्शियल कांप्लेक्स है और इसमें कई दुकानें और कोचिंग सेंटर्स हैं। मृतकों में ज्यादातर स्टूडेंट हैं, जो कांप्लेक्स में स्थित एक कोचिंग सेंटर में पढ़ने आए थे। हादसे के समय सेंटर में 40 छात्र मौजूद थे। हालांकि आग लगने की क्या वजह है, यह अभी नहीं साफ हो पाया है। गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बयान जारी कर कहा कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने आग की घटना की जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने घटना में जान गंवाने वाले हर छात्र के परिवार को चार लाख रुपए की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है। इस हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि सूरत में आग की घटना से बेहद व्यथित हूं। मृतकों के परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। मैंने गुजरात सरकार और स्थानीय प्रशासन से प्रभावित लोगों को हरसंभव मदद देने के लिए कहा है।

You might also like