सोनिया की रायबरेली में तीन फीसदी ज्यादा हुआ मतदान

Image result for election machineसोनिया की रायबरेली में तीन फीसदी ज्यादा हुआ मतदान

रायबरेली – कांग्रेस के गढ़ के तौर पर देश में विख्यात उत्तर प्रदेश के रायबरेली में सोमवार को हुये मतदान का प्रतिशत पिछले चुनाव की तुलना में अधिक रहा।  इस सीट पर संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) अघ्यक्ष और मौजूदा सांसद सोनिया गांधी का सीधा मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिनेश प्रताप सिंह से है। 2014 में यहां करीब 51 फीसदी वोट पड़े थे जबकि इस बार 56.23 प्रतिशत वोट कास्ट हुए है। हालांकि सोमवार शाम चुनाव आयोग ने यहां का मत प्रतिशत 53.68 फीसदी घोषित किया था। रायबरेली में कुल मतदाताओं की संख्या करीब 16 लाख 50 हजार से अधिक है। इस हिसाब से करीब 50 हजार मतों का अंतर कल से जारी मतदान के आंकड़ो में नजर आ रहा है। लोकतंत्र के महापर्व को लेकर यहां के बाशिंदो में गजब का उत्साह देखने को मिला जब सुबह सात बजे से पहले ही कई मतदान केंद्रों के बाहर लाइन लगी थी। था। कभी सुस्त रफ्तार से कभी थोड़ा तेज़ी के साथ भीषण गर्मी के अनुरूप मतदान हो रहा था। अन्य क्षेत्रों की तरह विकास खण्ड खीरो में भी उत्साह का माहौल था।  इस चरण के मतदान में कुछ ऐसी घटनाएं हुई जो मतदान के दौरान सुर्खियां बनी। इस विकास खंड के कसौली के बूथ संख्या 76 और राजकीय इंटर कालेज सेमरी की बूथ संख्या 51 में भी तकनीकी खराबी के कारण मतदान प्रभावित हुआ लेकिन अधिकारियों द्वारा मशीन बदल कर पुनः मतदान कराया गया। कस्बे के बूथ संख्या 108 पर तैनात होमगार्ड के ऊपर लगा सीलिंग फैन खुल कर गिर गया जिससे वह घायल हो गया।  कस्बे के मतदान केंद्र पर सांसद प्रतिनिधि किशोरीलाल और भाजपा उम्मीदवार दिनेश प्रताप सिंह का आमना सामना हो गया जिसके उपरांत भाजपा उम्मीदवार ने उनके चरण स्पर्श किये और किशोरीलाल भी मुस्कुराते हुए आगे बढ़ गए।  देश की हाई प्रोफाइल सीटों में से एक रायबरेली पहली बार पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पति फिरोज गांधी ने जीत हासिल कर कांग्रेस का खाता खोला था जो यथावत जारी है। महज तीन बार यहां कांग्रेस के सिवा कोई दूसरी पार्टी जीत सकी है। वो भी तब जब यहां से ‘गांधी परिवार’ के किसी सदस्य ने चुनावी नहीं लड़ा। वर्ष 2004 से श्रीमती सोनिया गांधी यहां की सांसद चुनी जाती रही है जबकि भाजपा के दिनेश प्रताप ने कुछ समय पहले कांग्रेस छोडी है।

 

You might also like