सोने के गहनों की लेबर पर 45 फीसदी छूट

पालमपुर —हिमाचल के टॉप ज्वेलर्स में अपना नाम दर्ज करा चुके बुड्ढा मल एंड संस ज्वेलर्स के एमडी मानिक करवाल  ने  बताया कि सात मई को अक्षय तृतीय का संयोग बना है ।  इस दिन को भगवान विष्णु का दिन माना गया है । वैदिक ग्रंथ एवं पुराणों के अनुसार त्रेता युग का आरंभ अक्षय तृतीय के दिन से ही हुआ था । उन्होंने कहा कि अक्षय तृतीय को  भाग्य में वृद्धि का सूचक भी माना गया है । इस वर्ष भगवान परशुराम का अवतार दिवस तथा त्रेता युग की शुरुआत का योग बन रहा है, जो वर्ष 2003 में आखिरी बार बना था। इस दिन सोना, चांदी, वस्त्र और बरतन खरीदने का विशेष महत्त्व है।  उन्होंने कहा कि अक्षय तिथि के मौके पर लोग सोना, स्वर्ण आभूषण और स्वर्ण मुद्राएं खरीदते हैं, ताकि उनके समृद्धि आने वाले सालों में भी बनी रहे ।  लोगों का ऐसा विश्वास है कि इस दिन खरीदे गए सोने पर पाप ग्रह की दृष्टि नहीं पड़ती । अक्षय तृतीय पर सूर्य व चंद्र दोनों एक ही राशि में अपने चरम बिंदु पर होते हैं, जिससे इस दिन किए गए शुभ कार्य , खरीदारी, दान व पूजा का महत्त्व बढ़ जाता है । उन्होंने कहा कि इस विशेष महापर्व के लिए स्वर्ण आभूषणों पर बुड्ढा मल ज्वेलर्स पालमपुर में ग्राहकों के लिए आकर्षक ऑफर रखे गए हैं,  जिसमें सोने के आभूषणों की लेबर पर 45 फीसदी तथा हीरे के आभूषणों पर 30 फीसदी तक छूट दी जा रही है । उन्होंने बताया कि इस महापर्व के मौके पर उनके पालमपुर स्थित शोरूम पर स्वर्ण, डायमंड व चांदी के आभूषणों के  लेटेस्ट डिजाइन बिक्री के लिए उपलब्ध रहेंगे ।

You might also like