सोलन में पहाड़ी से गिरे पत्थरों ने तोड़ा रेलवे ट्रैक

सोलन-विश्व धरोहर कालका-शिमला रेलवे टै्रक का एक हिस्सा डैमेज हो गया। बताया जा रहा है कि नेशनल हाई-वे पर चल रही पहाड़ी की कटिंग के कारण अचानक पत्थर ट्रैक पर गिरने लगे। इस कारण ट्रैक का हिस्सा टूट गया। इसके चलते रेलवे ट्रैक पर आनन-फानन में शिमला से कालका जा रही ट्रेनों को विभिन्न स्टेशनों पर रुकवाया गया।  यह वाकया विश्व धरोहर कालका-शिमला रेलवे ट्रैक पर सनवारा के समीप गुरुवार शाम करीब सवा छह बजे तब सामने आया, जब फोरलेन की कटिंग के बाद पहाड़ी पर अटके पत्थर दरकना शुरू हो गए। इस दौरान बड़े-बड़े पत्थर विश्व धरोहर रेलवे लाइन पर आ गिरे, जिससे पटरी डैमेज हो गई। इसके पश्चात स्थानीय लोगों ने इसकी जानकारी रेलवे स्टेशन सनवारा को दी गई। रेलवे के अधिकारी सहित फोरलेन निर्माता कंपनी के अधिकारी तुरंत मौके पर पहुंचे और शिमला से कालका की ओर जाने वाली ट्रेनों को विभिन्न स्टेशनों पर रुकवाया गया। गौरतलब हो कि कालका-शिमला नेशनल हाई-वे पांच को परवाणू से सोलन के चंबाघाट तक फोरलेन में तबदील किया जा रहा है। इसको लेकर पहाडि़यांे की कटिंग की जा रही है। हाई-वे पर कई जगहें ऐसी हैं, जहां पर रेलवे ट्रैक साथ हैं, तो कई जगह ऐसी हैं, जहां रेलवे ट्रैक पहाड़ी के ऊपर की ओर या डाउन साइड में हैं। इससे हर पल हादसे का डर बना रहता है।

दो घंटा लेट हुई ट्रेन, यात्री परेशान

विश्व धरोहर कालका-शिमला रेलवे ट्रैक पर पत्थर गिरने और ट्रैक का एक हिस्सा डैमेज होने से ट्रैक दो घंटे तक बाधित हो गया। ट्रैक के टूटे हिस्से को जोड़ने के लिए कालका से रेलवे इंजीनियर व कर्मचारियों को बुलाया गया। खबर लिखे जाने तक सभी मौके पर ट्रैक को बहाल करवाने के लिए ठीक कर रहे थे। हालांकि टै्रक पर पत्थर गिरने से पर्यटकों को काफी परेशानी हुई और कालका से अन्य जगहों पर जाने वाले लोगों की अगली गाडि़यां छूट गईं।

You might also like