स्कूलों के शिक्षक भी गए चुनाव करवाने

शिमला – लोकसभा चुनाव को लेकर जहां सभी सरकारी विभागों में कर्मचारियों की ड्यूटी लगी है, वहीं शिक्षकों को भी चुनावी ड्यूटी के लिए भेज दिया गया है। ऐसे में प्रदेश भर के कई सरकारी स्कूलों में शिक्षक ही नहीं है। कई स्कूलों में ऐसे हालात हैं कि वहां पर एक शिक्षक 100 से ज्यादा छात्रों को पढ़ा रहा है। ऐसे में अब छात्रों की पढ़ाई बाधित हो रही है। विभागीय जानकारी के अनुसार कई शिक्षकों ने अपनी चुनावी ड्यूटी कैंसिल भी करवा ली है। शिमला जिला में 50 प्रतिशत शिक्षक चुनावी ड्यूटी दे रहे हैं। इस वजह से वे स्कूलों में कक्षाएं नहीं लगा रहे हैं। यही वजह है कि  शिक्षा विभाग ने भी शिक्षकों की ड्यूटियां कैंसिल करवाने के आदेश शिक्षा उपनिदेशकों को जारी किए हैं। उधर, विभिन्न शिक्षक संगठनों की मांग है कि  शिक्षकों को चुनाव ड्यूटी से दूर रखा जाएं, ताकि छात्रों की पढ़ाई पर बुरा असर न पढ़े। शिक्षकों का यह भी तर्क है कि  हर साल रिजल्ट खराब होने की वजह यह भी है कि उन्हें चुनाव के दो माह पहले ही व्यस्त कर दिया जाता है।

You might also like