स्टेट लाइब्रेरी में करें स्टडी

शिमला—लंबे समय से नए राज्य पुस्तकालय का इंतजार कर रहे शिमला के लोगों के लिए राहत भरी खबर है। लोकसभा चुनाव के बाद अब शिक्षा विभाग ने पुस्तकालय के लटके अधूरे कार्यो को पूरा करने के निर्देष संबधित अधिकारियों को दे दिए है। लोक निर्माण विभाग व एमसी सहित बिजली विभाग को अब एक माह के अंदर पुस्तकालय के  पैंडिग कार्यो को पूरा करने होंगा। शिक्षा विभाग ने इसके लिए अल्टीमेटम जारी कर दिया है। बता दें कि फरवरी माह में राज्य पुस्तकालय का उद्घाटन होने के बाद अभी तक वहां पर लोगों को पढ़ने के लिए नहीं खोला गया है। इस वजह से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों को मजबूरन अभी तक पूराने पुस्तकालय में कम सुविधाओं में ही परीक्षाओं की तैयारियां करनी पड़ रही है। बता दें कि करोड़ो की लागत से तैयार किए गए नए पुस्तकालय में छात्रों, बच्चों व वृद्ध लोगों को अलग – अलग ब्लॉक बनाए गए है। लाइब्रेरी के सभी सेक्शन स्मार्ट सुविधाओं से लैस होंगे। वहीं यहां पर छात्रों को ऑनलाइन स्टडी की सुविधा देने का भी प्लान है। बता दें कि नए राज्य पुस्तकालय में लगभग पांच सौ से ज्यादा छात्रों के बैठने की व्यवस्था होगी। वहीं इस पुस्तकालय में हाई स्टैंडर्ड चेयर व कूर्सी की भी सुविधा छात्रों को दी जाएंगी। बता दें कि लगभग दो लाख का बजट खर्च कर उक्त पुस्तकालय में फर्नीचर खरीदा जाएंगा। यह फर्नीचर छात्रों के सुझाव लेने के बाद ही शिक्षा विभाग खरीदने जा रहा है। बता दें कि लंबे समय से शिमला में पढ़ने वाले छात्रों को नए पुस्तकालय का इंतजार था। फरवरी में शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने इस पुस्तकालय का उद्घाटन किया था। लेकिन उस समय केवल खानापूर्ती के तौर पर ही आधे – अधूरे भवन का उद्घाटन कर छात्रों के साथ धोखा किया गया। बता दें कि पहले से ही नए राज्य पुस्तकालय के भवन को तैयार करने में पीडब्लयूडी विभाग ने देरी कर दी है। ऐसे में अब यह देखना होगा कि क्या इस बार शिक्षा विभाग के निर्देषों के बाद समय पर नए राज्य पुस्तकालय को लोक निर्माण विभाग विभाग को हैंडओर कर पाता है या नहीं। जानकारी के अनुसार शिक्षा विभाग ने लाइब्रेरी के अन्य संबधित अधिकारियों को भी यह आदेश जारी किए है कि वह एक माह बाद नए पुस्तकालय में किताबों को शिफ्ट करने का कार्य करें। वहीं जब किताबें शिफ्ट होने का कार्य शुरू होगा, तो छात्रों को भी बैठाना शुरू कर दिया जाएगा। बता दें कि वर्तमान में राज्य पुस्तकालय में अभी तक पानी का कनेक्शन भी नहंी लग पाया है। इसके अलावा सिवरेज, बिजली की सुविधा भी नहीं है। ऐसे में लोगों द्वारा भी यह सवाल उठाया गया था कि छः महिने से ज्यादा  राज्य पुस्तकालय के उद्घाटन को हो गए है, लेकिन वहां पर अभी तक  कोई सुविधा  उपलब्ध नहीं करवाई गई है। विभागीय जानकारी के अनुसार शिक्षा विभाग में कई ऐसे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों ने शिकायतें भी दर्ज की है। इसी वजह से हरकत में आए शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को इस बाबत निर्देष जारी कर संबधित अधिकारियों को रिपोर्ट भेजने के निर्देष दिए हैं।

28 कर्मचारियों का होगा स्टाफ

जानकारी के अनुसार चौड़ा मैदान स्थित नए राज्य पुस्तकालय में 28 कर्मचारियों का स्टाफ होगा। शिक्षा विभाग ने इस बारे में सरकार को प्रोपोजल बनाकर भेज दिया है। सरकार से मंजूरी मिलने के बाद पदों को भरना शुरू कर दिया जाएगा।

You might also like