स्ट्रांग रूम के बाहर गठबंधन का तंबू

मेरठ में ईवीएम की सुरक्षा को लेकर प्रत्याशी ने समर्थकों संग 11 अप्रैल से डाला डेरा

मेरठ -लोकसभा चुनाव परिणाम से ठीक पहले पूरे देश में ईवीएम की सुरक्षा को लेकर विपक्षी दल चुनाव आयोग और बीजेपी पर हमला बोल रहे हैं। यूपी और बिहार से आई इन शिकायतों पर चुनाव आयोग ने सफाई दी है और आरोपों को निराधार बताया है। इस बीच ईवीएम की सुरक्षा में कोई कोर-कसर न रह जाए, इसके लिए प्रत्याशियों ने चाक-चौबंद व्यवस्था कर रखी है। प्रत्याशियों की सजगता का एक उदाहरण मेरठ में देखा गया। यहां एसपी, बीएसपी और आरएलडी गठबंधन के प्रत्याशी हाजी याकूब कुरैशी के समर्थक गत 11 अप्रैल से ही स्ट्रांग रूम के बाहर डेरा डाले हुए हैं। स्ट्रांग रूम और उसके आसपास के इलाके पर कड़ी नजर रखने के लिए कुरैशी के समर्थकों ने हाईटेक इंतजाम किए हैं। स्ट्रांग रूम के बाहर प्रत्याशियों के समर्थकों ने तंबू गाड़ रखा है। इसमें कम्प्यूटर लगाए गए हैं। इस कम्प्यूटर पर स्ट्रांग रूम के सीसीटीवी की लाइव फीड आती है। अगर यह फीड आनी बंद हो जाती है या उन्हें कुछ गड़बड़ी लगती है तो वे तत्काल चुनाव अधिकारियों से बात करते हैं। वे यह जानने की कोशिश करते हैं कि कई कोई गड़बड़ी तो नहीं हुई है। इसी तरह से स्ट्रांग रूम के आसपास किसी भी संदिग्ध हरकत पर नजर रखने के लिए गठबंधन के समर्थक दूरबीन का इस्तेमाल कर रहे हैं। इससे उन्हें दूर तक निगरानी करने में आसानी हो हो रही है। गठबंधन प्रत्याशी के समर्थक 24 घंटे तीन शिफ्ट में इस काम को कर रहे हैं। तंबू के अंदर ही कार्यकर्ताओं के सोने का भी इंतजाम किया गया है।

You might also like