स्पेशल वार्ड-इंप्लाई सिक रूम की हालत सुधारी

सोलन—क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में पिछले काफी समय से खस्ता हाल पड़े स्पेशल वार्ड व इंप्लाई सिक रूम की हालत प्रशासन ने सुधार दी है। इन वार्डों की हालत जीर्णोद्धार पर करीब पांच लाख रुपए की लागत आई है। इससे अब लोगों को इसकी खराब हालत के कारण होने वाली परेशानियां नहीं झेलनी पड़ेंगी। क्षेत्रीय अस्पताल के पुराने हो चुके भवन में धीरे-धीरे जीर्णोद्धार का कार्य किया जा रहा है। सबसे पहले एमर्जेंसी वार्ड व इसके आसपास टाइलें लगाकर इसकी हालत सुधारी गई। इसके बाद मेडिकल वार्ड में भी टाइलें व सीलिंग लगाकर इसे आधुनिक लुक दी गई। इसके बाद अब यहां के विशेष कक्षों का जीर्णोद्धार किया गया है। क्षेत्रीय अस्पताल के पुराने भवन में 3 विशेष कक्ष हैं, जिनकी हालत काफी समय से खराब थी। अब इन विशेष कक्षों में टाइलें व सीलिंग लगा दी गई हैं, नए दरवाजे व माडर्न टायलट इसमें बनाए गए हैं। इसके अलावा कर्मचारियों के लिए सिक रूम को भी चकाचक बना दिया गया है। इसमें मरीजों के लिए दो बैड लगे हैं। विशेष कक्षों की मरम्मत पर करीब एक-एक लाख व इंप्लाई सिक रूम पर करीब 1.5 लाख रुपए खर्च आया है। क्षेत्रीय अस्पताल सोलन के पुराने विशेष कक्षों की हालत सुधारने व इसमें बेहतर सुविधाए देने के बाद अब इसके लिए लिया जाने वाला शुल्क भी बढ़ सकता है। इसके लिए अभी तक 100 रुपए प्रतिदिन शुल्क मरीजों से लिया जा रहा है। जानकारी के अनुसार अभी फिलहाल यही शुल्क लिया जाएगा और आने वाली आरकेएस की आमसभा के दौरान इसका शुल्क बढ़ाने पर प्रस्ताव रखा जाएगा। आमसभा में ही निर्णय होगा कि इसका शुल्क कितना बढ़ाना है।

You might also like