स्वच्छता पर जागरूकता के लिए एलपीयू की विशेष पहल

जालंधर – लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी ने प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के पाठ्यक्रम में इनोवेटिव प्रोजैक्ट ‘स्वच्छाग्रह’ को शामिल किया है, जिसका शीर्षक ‘ट्रैश द ट्रैश’ है। एलपीयू में भारत भर से आकर पढ़ने वाले कई हजारों विद्यार्थियों में से 6,000 से अधिक इस प्रयास में भाग ले रहे हैं। विद्यार्थी इस गर्मी की छुट्टी के दौरान कचरा फैलाने के विरुद्ध कई असाइनमेंटस संभाल रहे हैं, जिनका उद्देश्य इन युवाओं के माध्यम से समुदाय में कूड़ा-कर्कट के विरुद्ध जागरूकता पैदा करना है। इसमें भाग लेने वाले प्रत्येक विद्यार्थी को एक समुदाय या इलाके में कचरा फैलाने के विरुद्ध समस्या सुलझाने की रणनीति के प्रति खोज, विचार आदि सांझे करने हैं। स्वच्छाग्रह ‘स्वच्छता का सत्याग्रह’ अडानी फाउंडेशन की एक पहल है। यह व्यवहार को बदलने वाला नवीनतम शिक्षा कार्यक्रम स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन के दौरान महात्मा गांधी द्वारा स्थापित ‘सत्याग्रह’ आंदोलन से प्रेरित है। इसी तर्ज पर यह स्वच्छाग्रह प्रोजेक्ट नागरिकों के मन में कर्तव्य, मर्यादा और स्वाभिमान की भावना पैदा करने की प्रक्रिया में धैर्य और दृढ़ता के माध्यम से कार्रवाई को प्रेरित करता है। इसका उद्देश्य लोगों को भारत के स्वतंत्रता आंदोलन के समान स्वच्छता की संस्कृति को रचित करने के प्रति एक बदलाव लाने के लिए एकजुट करना है। अडानी फाउंडेशन की ट्रस्टी शिलिन आर अडानी का कहना है- ‘स्वच्छता या ‘स्वच्छाग्रह’ की संस्कृति में समृद्धि, भलाई यहां तक कि सद्भाव और शांति के रूप में सामाजिक बुराइयों पर काबू पाने की असीम शक्ति है। मैं एलपीयू के युवा एबेंसेडर को इस नेक मिशन को अपनाने के लिए बधाई देती हूं और कामना करती हूं कि एक अधिक स्वच्छ भारत के निर्माण के प्रति उनके सभी प्रयास सफल हों।

You might also like