स्वामी असीमानंद बोले; पार्टी टिकट दे, तो लड़ूंगा चुनाव

नई दिल्ली –  हाल ही में समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट में बरी हुए स्वामी असीमानंद ने कहा कि हिंदू आतंकवाद का नैरेटिव गढ़ा गया, उन्हें हिंदू और भगवा आतंकवाद का प्रतीक बना दिया गया था, लेकिन एक के बाद एक तीनों ही ब्लास्ट मामलों से वह बरी हुए। उनका बरी होना न सिर्फ उनके लिए, बल्कि हिंदू व भगवा आतंकवाद की धारणा को भी खत्म करता है। साध्वी प्रज्ञा के सवाल पर उन्होंने कहा कि साध्वी प्रज्ञा को उम्मीदवार बनाया जाना नैरेटिव को तोड़ने के लिए है। पिछली सरकार ने जिस तरह से हमें झूठे मामले में फंसाया और आखिरकर कोर्ट से न्याय मिला। अब पब्लिक जवाब देगी। एक गलत अवधारणा हिंदू व भगवा आतंकवाद की फैलाई गई थी, उसका जवाब जरूरी है। साध्वी प्रज्ञा का चुनाव लड़ाना उसी का जवाब है। खुद के चुनाव लड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं पहले भी समाज सेवा में था और आगे भी वही करता रहूंगा। फिलहाल मैं इसी में लगा हुआ हूं। वैसे मैं वेस्ट बंगाल से हूं और वहां के जो हालात हैं, वह चिंतनीय है। जहां तक साध्वी प्रज्ञा की तरह चुनाव लड़ने का सवाल है तो अगर पार्टी ने चुनाव लड़ने के लिए कहा तो जरूर लड़ूंगा।

You might also like