हट गई आदर्श चुनाव आचार संहिता

आज से सरकारी महकमों में लौटेगी रौनक, सचिवालय में बैठने लगेंगे मंत्री

शिमला –हिमाचल प्रदेश सहित पूरे देश से रविवार को आदर्श चुनाव आचार संहिता हट गई है। इसके साथ ही सोमवार से प्रदेश के सरकारी अदारे में भी रौनक लौट आएगी। सोमवार को वे सभी अधिकारी व कर्मचारी भी वापस ड्यूटी पर लौट आएंगे जो चुनावी प्रक्रिया संभाल रहे थे। राज्य से मतगणना के कार्य को निपटाने के लिए 55 आईएएस, एचएएस व अन्य अधिकारी गए थे, जो सोमवार से अपने काम पर वापस लौट जाएंगे। इसके साथ हजारों कर्मचारी, जिन्होंने प्रदेश में चुनाव की लंबी प्रक्रिया को निपटाया है, वे भी दफ्तरों में वापस आएंगे। मतलब यह है किसोमवार से सरकारी अदारे में रौनक आ जाएगी। सरकार का कामकाज भी पटरी पर लौटेगा। हालांकि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर तो अभी दिल्ली में ही रहेेंगे, लेकिन उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी सोमवार से सचिवालय पहुंच जाएंगे। सोमवार के दिन वे लोग अपने-अपने विभागों की रुकी हुई कार्यप्रणाली को लेकर चर्चा करेंगे और आगे क्या किया जाना है, इस पर विचार होगा। इसके साथ ये लोग विभागीय कामकाज शुरू कर देंगे। लोकसभा चुनावों के चलते पूरे देश में 75 दिनों से आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू थी। सरकार के मंत्री करीब तीन महीने बाद सचिवालय में दस्तक देंगे। हालांकि कुछ मंत्रियों ने तो मतदान और चुनावी नतीजे के बाद सचिवालय में बैठना शुरू कर दिया, लेकिन अधिकांश सोमवार से आ सकते हैं। बीते 11 मार्च को देश में लोकसभा चुनाव के लिए अधिसूचना जारी हुई थी। उसके बाद से लेकर अब तक हिमाचल में भी विकास की रफ्तार पूरी तरह से रुकी हुई थी, क्योंकि किसी भी नई योजना पर काम नहीं हुआ। यहां तक कि सरकार के बजट पर भी काम शुरू नहीं हो पाया है, जोकि अब होगा। सरकार की इससे पहले आठ मार्च को अंतिम कैबिनेट मीटिंग का आयोजन किया गया था। उसके बाद अप्रैल और मई महीने में चुनावों के चलते कैबिनेट बैठक नहीं हो पाई। ऐसे में अब सोमवार से विकास की रफ्तार भी तेज हो जाएगी। इसके साथ ही सरकार की कैबिनेट बैठक को लेकर भी सोमवार को ही तारीख तय हो जाएगी। मुख्यमंत्री के लौटते ही यहां कैबिनेट बैठक में कई महत्त्वपूर्ण निर्णय होंगे। सीएम 30 मई को पीएम के शपथ ग्रहण समारोह के बाद ही हिमाचल लौटेंगे।

You might also like