हमीरपुर में बेकाबू लपटों ने छीनी छत

हमीरपुर —जिला मुख्यालय से करीब सात किलोमीटर दूर स्थित भारीं गांव में आधी रात को आग ने जमकर तांडव मचाया। भीषण अग्निकांड में चार परिवारों का रिहायशी मकान जलकर राख हो गया, वहीं एक गोशाला भी स्वाह हो गई। भयंकर अग्निकांड की लपटें कई किलोमीटर दूर से भी दिखाई दे रही थीं। अग्निशमन विभाग ने करीब तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। हालांकि तब तक सब राख हो चुका था। आग के इस तांडव में चार परिवार बेघर हो गए। गनीमत रही कि इस बड़ी घटना में कोई जानी नुकसान नहीं हुआ। जानकारी के अनुसार शनिवार रात को भारीं गांव में अचानक आग लग गई। हादसा रात करीब एक बजे पेश आया। दलेल सिंह, रक्षा देवी, जगदीश चंद व राजेश शर्मा के मकान आग की भेंट चढ़ गए। जब मकान के स्लेट आग की तपिश से टूटने लगे, तो उनकी आवाज सुनकर सभी लोग घर से बाहर निकल गए। बाहर आकर देखा, तो आग की लपटें आसमान छू रही थीं। परिवार के सदस्यों ने शोर मचाना शुरू किया। अग्निशमन विभाग को भी इसकी सूचना दी गई। सूचना मिलने के बाद पहुंची दमकल विभाग की टीम ने तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। अग्निकांड में चार परिवारों के करीब छह कमरे व एक गोशाला जल गई। इस भीषण अग्निकांड में करीब साढ़े सात लाख की संपत्ति राख हो गई। घर के अंदर रखें कपड़े, नकदी, इमारती लकड़ी सहित अन्य सामग्री स्वाह हो गई। हालांकि आग लने के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। फिर भी चार परिवार बेघर हो चुके हैं। ग्रामीणों ने प्रशासन से मांग की है कि प्रभावित परिवारों को मदद उपलब्ध करवाई जाए।

You might also like