हल की नोक लगी, तो पत्थर की पिंडी से बहने लगा खून

You might also like