हस्ताक्षर अभियान छेड़ेगी जनहित संगठन

 चंबा—रावी नदी से कुछ ही दूरी पर बनाए गए चंबा बस स्टैंड के फल्ड एवं डैंजर जोन मंे होने के विरोध में चंबा जनहित संगठन हस्ताक्षर अभियान छेड़ेगा। संगठन के प्रधान शादी लाल किशोर शर्मा, भगत सिंह शिवकर्ण सहित अन्य सदस्यों का कहना है कि जनहित संगठन का निर्माण ही रावी किनारे असुरक्षित स्थान पर बनाए जाने वाले बस स्टैंड  निर्माण के विरोध में हुआ है। संगठन के विरोध के बावजूद भी उसी असुरक्षित स्थान पर बस स्टैंड का निर्माण कर दिया गया ओर बस स्टैंड निर्माण के दो से तीन माह बाद उसमें दरारें आ गई। उन्होंने कहा कि पछली बरसात मंे रावी मंे आई बाढ़ से बस स्टैंड के साथ लगते पुराने शीतला पुल का एक भाग पुरी तरह से असुरक्षित हो गया ओर नए को भी खतरा पैदा होने लगा था। उन्होंने कहा कि एनजीटी नदी से 25 मीटर के दायरे में आने वाले भवनों पर कार्रवाई कर रही है जबकि चंबा का बस स्टैंड तो सिफ नदी से 10 से 15 मीटर की दूरी पर बना है। संगठन सदस्यों का कहना है प्रदेश के अन्य जिलों आधुनिक सुविधा से लैस 40 से 50 करोड़ की लागत से बस अड्डों का निर्माण किया जा रहा है जबकि चंबा में असुरक्षित स्थान पर तीन से चार करोड़ रूपए की लागत बस स्टैंड का निर्माण कर जनता को ठगा है। वहीं ततवानी में बनाए गए नए बस स्टैंड की बजह से लोगांे को भी अस्पताल सहित जिला मुख्यालय पहुंचने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। संगठन सदस्यों ने प्रशासन एवं सरकार से जीरों प्वाइंट पर अत्याधुनित तरह के बस स्टैंड निर्माण की मांग कर रही है।

You might also like