हाई कोर्ट को मिले दो न्यायाधीश

अनूप चिटकारा स्थायी, ज्योत्सना रिवाल अपर न्यायाधीश नियुक्त

शिमला – प्रदेश हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश डीसी चौधरी ने गुरुवार को दो नए जजों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। रजिस्ट्रार जनरल ने राष्ट्रपति द्वारा अनूप चिटकारा का स्थायी न्यायाधीश  और  ज्योत्सना रिवाल दुआ का अपर न्यायाधीश नियुक्त किए जाने के बारे में वारंट पढ़ा। इस मौके पर हाई कोर्ट के सभी न्यायाधीश, सेवानिवृत्त न्यायाधीश, बार एसोसिएशन के सदस्य, हाई कोर्ट का स्टाफ  और अन्य लोग उपस्थित थे। बता दें कि अनूप चिटकारा का जन्म 29 अप्रैल,  1966 को शिमला में हुआ। इनके पिता स्वर्गीय  मदन  गोपाल चिटकारा हिमाचल प्रदेश सरकार के महाधिवक्ता रहे और प्रशासनिक ट्रिब्यूनल के वाइस चेयरमैन भी रहे। न्यायाधीश चिटकारा ने मैट्रिक लक्कड़ बाजार शिमला और स्नातक की उपाधि कोटशेरा कालेज से हासिल की। वर्ष 1990 में उन्होंने विधि की डिग्री हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से प्राप्त की और हाई कोर्ट में वकालत शुरू की। वह यूएसए एंबेसी के लिए हाई कोर्ट से रेफरेंस वकील भी रहे और उन्होंने वर्मा कमेटी को वर्ष 2012 में महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए क्रिमिनल कानून बनाए जाने के लिए बहुमूल्य सिफारिशे दीं। मार्च, 2019 में हाई कोर्ट द्वारा उन्हें वरिष्ठ न्यायाधीश बनाया गया। दूसरी तरफ हाई कोर्ट में 13 वर्षों के पश्चात् महिला न्यायाधीश बनी ज्योत्सना रिवाल दुआ का जन्म 25 मई, 1969 को नाहन में हुआ। नालागढ़ से अन्होने स्नातक की उपाधि हासिल की और वर्ष 1991 में इन्होंने विधि की डिग्री तीन गोल्ड मेडल के साथ हासिल की। उन्हें हाई कोर्ट द्वारा वर्ष 2015 में वरिष्ठ न्यायाधीश बनाया गया। उन्होंने सिविल, आपराधिक, संवैधानिक, सर्विस और वातावरण से जुड़े मामलों की पैरवी की।

You might also like