हाई-वे पर फेंका वेस्ट मैटीरियल

फ्रूट जूस कंपनी का कारनामा, स्वच्छता नियमांे की सरेआम उड़ाई धज्जियां

बिझड़ी -ऊना-नेरचौक सुपर हाई-वे पर झिरालड़ी के पास एक फ्रूट जूस कंपनी ने वेस्ट मैटीरियल फेंक स्वच्छता नियमांे की सरेआम धज्जियां उड़ा दीं। एक साथ हजारांे जूस कंपनी के रैपर यहां डंप किए गए हंै। हालांकि इस कारनामे को कब अंजाम दिया किसी को पता नहीं। यहां भारी मात्रा मंे पड़ा वेस्ट मैटीरियल देख हर कोई कंपनी की कार्यशैली को कोस रहा है।  हाई-वे किनारे डंप की गई गंदगी से वातावरण दूषित हो रहा है। अचानक इतनी भारी मात्रा मंे पड़े जूस के रैपर देख लोग भी सकते में हैं। लोगों का कहना है कि शायद  पैसे वालों के लिए कोई नियम नहीं है, नियम जो बनते हैं वे केवल गरीब व असहाय लोगों के लिए होते हैं। एक तरफ जहां बड़सर प्रशासन लोकसभा चुनावों में व्यस्त चल रहा है। वहीं दूसरी तरफ  सब नियमों को दर किनार करते हुए ऊना- भोटा सुपर फास्ट हाई-वे पर झिरालड़ी के पास वेस्ट मैटीरियल फेंक दिया है। इसके चलते सड़क किनारे गंदगी फैलने के चलते पर्यावरण को भी भारी नुकसान पहुंचाया जा रहा है। बता दें कि जिस स्थान पर यह वेस्ट मैटीरियल या फिर ओवर डेट मैटीरियल का बहुत बड़ा जखीरा फेंका गया है। उक्त स्थान पर यह भी बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा गया है कि यहां पर किसी प्रकार की सामग्री या फिर कोई खाद्य पदार्थ फेंकना कानूनन अपराध है, फिर भी बडे़ रसूखदारों ने हजारों की संख्या में फ्रूट जूस बगैरा के पैक्ट सड़क के किनारे फेंक दिए हैं। अब देखना यह है कि बड़सर प्रशासन इस कंपनी के खिलाफ क्या कठोर निर्णय लेता है या फिर इस सारे मामले को ऐसे ही रफा-दफा कर देता है। क्षेत्रवासियों राजेश कुमार, संजय कुमार, त्रिलोक चंद, मदन लाल, पवन कुमार, राजकुमार, राजो देवी, सुनीता देवी, सलोचना देवी, अमरनाथ, ब्रह्मदत्त शर्मा, विशनदास आदि ने बड़सर के आलाधिकारों से फ्रूट कंपनी के खिलाफ कड़ी कारवाई करने की अपील की है। वहीं कंपनी के कस्टमर केयर मंे बात करने पर वहां तैनात कर्मचारी राजन ने बताया कि उन्हंे इस बारे कोई जानकारी नहीं है।

You might also like