हाथ पर लिख दिया, तुरंत दें फीस

लुधियाना के एक प्राइवेट स्कूल का मामला, राशि जमा न करवाने पर पिंसिपल ने लगाई रिमाइंडर की मुहर

लुधियाना -लुधियाना के एक प्राइवेट स्कूल ने फीस न जमा करने पर एक स्टूडेंट के हाथ पर फीस रिमाइंडर की मुहर लगाकर घर भेज दिया। मुहर में बच्चे के पेरेंट्स के लिए संदेश लिखा था कि वह अपने बेटे और बेटी की फीस तुरंत जमा कर दें। आमतौर पर फीस रिमाइंडर पेपर या डायरी में लिखकर दिया जाता है। जिला प्रशासन ने मामला सामने आने के बाद जांच का आदेश दिया है। प्रशासन ने स्कूल के दोषी पाए जाने पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है। घटना पंजाब बोर्ड से मान्यता प्राप्त लुधियाना के एसडीएन स्कूल की है। यहां सातवीं क्लास में पढ़ने वाले स्टूडेंट हर्षदीप सिंह शुक्रवार को एग्जाम देने पहुंचा था। हर्षदीप के पैरंट्स उसकी अप्रैल-मई महीने (760 रुपए महीना) की फीस नहीं जमा कर पाए थे। इसके अलावा उसकी 17 वर्षीय बड़ी बहन की भी करीब 6,805 रुपए फीस बकाया थी, जिसने इसी साल स्कूल से 10वीं का एग्जाम पास किया था।

पिंसिपल ने लगाया बदसलूकी का आरोप

बच्चे के माता-पिता जब विरोध जताने स्कूल गए, तो स्कूल की प्रिंसिपल शम्मा दुग्गल ने इसे सही ठहराया। प्रिंसिपल के पति एसके दुग्गल इस स्कूल के चेयरमैन हैं। शम्मा ने कहा कि हमने बच्चे से कहा था कि वह इसे जाकर अपने माता-पिता को दिखाए। स्याही आसानी से मिट सकती थी, मगर इसके बावजूद उसके मां-बाप ने मेरे साथ बदसलूकी की। उन्होंने बच्चों के माता-पिता पर बदसलूकी का आरोप लगाया है।

निजी स्कूल पर कार्रवाई करेगा जिला प्रशासन

जिला शिक्षा अधिकारी श्रवणजीत कौर ने कहा कि यह पूरी तरह से शोषण की घटना है। वे ऐसा किसी भी बच्चे के साथ नहीं कर सकते। इस बारे में हम एक जांच बिठाएंगे और स्कूल के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि दोषियों पर कार्रवाई होगी।

You might also like