हितेश के कैमरे की खूबसूरती गुलाम

शिमला —हिमाचल की खूबसूरती को अपने कैमरे से निखारने मंे हितेश माहिर हैं। कई धारावाहिकांे के  साथ फिल्म और डोक्यूमंेट्री मंे कै मरामैन की कमान संभाले हितेश का कहना है कि भले ही इस विषय मंे अब और ज्यादा तकनीकी क्र ंाति आई है, लेकिन किसी भी तस्वीर को प्रदर्शित करने और उसे दिखाने, समझने मंे भी लोगांे के नज़रिए मंे काफी बदलाव आया है, जिसे देखते हुए वह लगातार यह कोशिश कर रहे हैं कि जनता, वह तस्वीर देखे, जिसकी छाप उनके दिल तक जाए। हितेश का जन्म भले ही हिमाचल मंे न हुआ हो, लेकिन दिल्ली मंे जन्मे हितेश ने हिमाचल मंे सरकारी योजना को जन-जन तक पहुंचाने के लिए बेहतर प्रदर्शन किया है, जिसमंे पर्यटन विकास के साथ ही हिमाचल के विकासात्मक कई पहलुआंे को वीडियोग्राफी के साथ ही निर्देशन करके हिमाचल की जतना के दिल मंे जगह बनाई है। हिमाचल मंे सीनिटोग्राफी और डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी का आनंंद जन्नत जैसा है। हितेश चौहान कहते हैं कि हर नई लोकेशन अपने अंदर सैकड़ों राज समेटे हुए है। 

दूर तक पहुंचाई स्वास्थ्य-शिक्षा की तस्वीर

हितेश कहते हैं कि स्वास्थ्य, शिक्षा के ऊपर कई संदेश देने वाले वृतचित्रांे को भी बनाया गया है, जो काफी सराहे गए हैं। वहीं, कई धारावाहिक मंे भी कैमरामैन के तौर पर अपना बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश की गई है, जिसमंे शिमला दूरदर्शन के लिए कई प्रोजेक्टस पर काम किया है।  फिलहाल अन्य धाारावाहिकांे मंे हम परेशान हैं, तमन्ना, विरासत जैसे सीरियल किए हैं। कई शॉर्ट फिल्म भी बनाई गई हंै, जो काफी सराही गई हंै। कई बड़े बड़े प्रोजेक्ट पर काम किया है, जिसमंे बीबीसी ग्लोबल क्वेश्चन 2018, बीबीसी क्लिक लाइव शो 2018, हाईवे ऑन माई प्लेट एनडीटीवी मुख्य है।

You might also like