हिमकेयर योजना में पंजीकरण बंद

चुनाव आयोग ने आचार संहिता तक लगाई रोक, स्वास्थ्य विभाग को लिखा पत्र

 कांगड़ा —हिमाचल प्रदेश चुनाव आयोग ने प्रदेश में आचार संहिता के चलते प्रदेश सरकार की स्वास्थ्य योजना हिमकेयर में पंजीकरण पर रोक लगा दी है। चुनाव आयोग ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र जारी करते हुए आचार संहिता के दौरान नए परिवारों को पंजीकृत न करने के लिए कहा है, जिसके चलते प्रदेश में अब लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया संपन्न होने तक पात्र परिवार अपनी रजिस्टे्रशन इस योजना में नहीं करवा सकते हैं। हालांकि पहले से ही मुख्यमंत्री स्वास्थ्य देखभाल योजना तथा हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सल हैल्थ प्रोटेक्शन हैल्थ कार्ड में शामिल परिवार हिमकेयर योजना का लाभ उठा सकते हैं। प्रदेश में जनवरी, 2019 से लेकर अभी तक ही हिमकेयर स्वास्थ्य देखभाल योजना में एक लाख 62 हजार 284 परिवारों को पंजीकृत किया जा चुका है।  जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश सरकार ने पूर्व में चली स्वास्थ्य देखभाल योजनाआें को हिमकेयर योजना में सम्मिलित किया था। इस योजना को प्रदेश में केंद्र सरकार द्वारा शुरु की गई आयुष्मान स्वास्थ्य योजना के बाद जनवरी 2019 में शुरु किया गया। इस योजना के तहत प्रदेश सरकार ने सरकारी तथा सेवानिवृत्त कर्मचारियों को छोड़कर सभी वर्गों को शामिल किया है। इस योजना के तहत पंजीकृत परिवारों को बीमारी के उपचार के दौरान पांच लाख रुपए तक की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। इस योजना के शुरु होने के दौरान सरकार ने 31 मार्च 2019 तक का समय पंजीकरण करने के लिए निर्धारित किया था, जिसे बाद में बढ़ाकर 31 मई कर दिया गया। प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के तहत लोकमित्र केंद्रों में पात्र परिवारों के हिमकेयर स्वास्थ्य कार्ड बनाए जा रहे हैं। मौजूदा समय में हिमाचल में लोकसभा चुनाव के चलते जारी हुई आचार संहिता के दौरान भी इन कार्ड को बनाया जा रहा था। आचार संहिता के दौरान सरकार की किसी भी योजना में पंजीकरण नहीं किया जा सकता है। सूत्रों की मानें तो यह मामला प्रदेश चुनाव आयोग के पास भी पहुंचा था।

31 मई तक है समय

हिमाचल में 23 मई को लोकसभा चुनाव का परिणाम घोषित किया जाएगा, वहीं हिमकेयर योजना के तहत पात्र परिवारों को योजना में अपनी रजिस्टे्रशन करवाने के लिए 31 मई तक का समय दिया गया है।

You might also like