हिमाचली कलाकारों के लिए बनेगी कल्चरल पालिसी

धर्मशाला   —हिमाचल प्रदेश के कलाकारों के पंजीकरण के लिए राज्य सरकार अब कल्चरल पालिसी बनाने जा रही है। इससे सरकारी व गैर सरकारी उत्सवों में राज्य के कलाकारों को प्राथमिकता मिल सके। अकसर बड़े समारोहों में बाहरी कलाकार लाखों बटोर कर ले जाते हैं और प्रदेश के अपने कालाकारों को आगे बढ़ने को प्रोत्साहन भी नहीं मिल पाता है। ऐसे में भाषा एवं संस्कृति विभाग की यह नई मुहिम राज्य के कलाकारों के लिए संजीवनी बनेगी। विभाग ने इनके पंजीकरण के लिए 30 मई तक आवेदन मांगे हैं।  प्रदेश के कलाकारों को अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय, राज्य, जिला स्तर के मेलांे तथा सार्वजनिक, शासकीय उत्सवों में प्राथमिकता देने के लिए भाषा एवं संस्कृति विभाग कलाकारों के पंजीकरण को  कल्चरल पालिसी बना रहा है। इसके लिए संबंधित कलाकार अपने विधा के अनुरूप ब्यौरा देकर आवेदन ऑनलाइन/ ऑॅफलाइन पंजीकरण विभाग की गेयटी थिएटर की वेबसाइट तथा भूरी सिंह संग्रहालय की वेबसाइट  में संलग्न प्रपत्र पर अथवा जिला भाषा अधिकारी कार्यालय कांगड़ा से कलाकार पंजीकरण प्रपत्र प्राप्त कर 30 मई तक आवेदन कर सकते हैं। जिला भाषा अधिकारी सुरेश राणा ने बताया कि उनके कार्यालय से भी संपर्क किया जा सकता है। विभाग कलाकारों का हर संभव सहयोग करेगा।

You might also like